कैशलेस व्यवस्था में रोड़ा बने प्रधान और सचिवों पर डीपीआरओ सख्त

कैशलेस व्यवस्था में रोड़ा बने प्रधान और सचिवों पर डीपीआरओ सख्त
कैशलेस व्यवस्था में रोड़ा बने प्रधान और सचिवों पर डीपीआरओ सख्त

Amit Sharma | Updated: 27 Aug 2019, 06:14:35 PM (IST) Kasganj, Kasganj, Uttar Pradesh, India

सचिव और ग्राम प्रधानों के खिलाफ जिलापंचायत राज अधिकारी शहनवाज अंसारी ने कार्रवाई करने की रणनीति तैयार कर ली है।

कासगंज। भले ही भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कैशलेस सेवा की शुरूआत कर दी हो, लेकिन यूपी के कासगंज जिले में भ्रष्टाचारी ग्राम पंचायत सचिव और ग्राम प्रधान सेवा का लागू नहीं कर रहे हैं। ऐसे में सचिव और ग्राम प्रधानों के खिलाफ जिलापंचायत राज अधिकारी शहनवाज अंसारी ने कार्रवाई करने की रणनीति तैयार कर ली है।

यह भी पढ़ें- बहरीन के मंदिर में यूपी के इस शहर के पुजारी ने कराई पीएम मोदी को पूजा, सामने आई दिलचस्प जानकारी

डीपीआरओ ने 383 ग्राम पंचायत सचिवों को चिन्हित कर कारण बताओ नोटिस भेजा है। उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि सभी ग्राम प्रधान को जुलाई माह में ऑन लाइन भुगतान करने के निर्देश दिए थे। इसके बावजूद भी ग्राम प्रधानों ने ऑनलाइन भुगतान नहीं किया। उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, उनके खातों को सीज कर दिया जायेगा। जिले में 383 ग्राम पंचायत सचिवों और प्रधानों ने नकद और चेक से भुगतान कर दिया है। उनके खिलाफ कारण बताओ नोटिस भेजा है।

यह भी पढ़ें- NGT के विरोध में बाजार बंद, प्रशासन पर गंभीर आरोप

जवाब आने पर निश्चित कार्रवाई की जाएगी, जबकि जिले की 42 ग्राम पंचायतों ने ऑन लाइन भुगतान किया है। उनकी भुगतान प्रक्रिया चालू है। उधर नोटिस जारी होने से ग्राम सचिवों और ग्राम प्रधानों में उहापोह की स्थिति बनी हुई है। एक दूसरे से जवाब देने के बारे में राय मशवरा कर रहे हैं। साथ ही एडीओ पंचायत का वेतन रोकने के भी निर्देश दिए हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned