BIG NEWS भारी बारिश से उफनाई गंगा, इन गांवों में बाढ़ का खतरा

BIG NEWS भारी बारिश से उफनाई गंगा, इन गांवों में बाढ़ का खतरा

Amit Sharma | Publish: Sep, 02 2018 05:06:19 PM (IST) Kasganj, Uttar Pradesh, India

जिला प्रशासन ने नगला जाटवान के ग्रामीणों को नाव से निकलवा कर पहुंचाया सुरक्षित स्थान पर। बाढ़ संभावित इलाके में जिला प्रशासन के लाख दावे हुए हवा हवाई साबित।

कासगंज। इन दिनों गंगा किनारे सटे ग्रामीणों पर पतित पावनी मां गंगा मैया का कहर टूट रहा है। गंगा में लगातार बढ़ रहे जलस्तर से पटियाली तहसील क्षेत्र के आधा दर्जन गांव बढ़ की चपेट में हैं। जिसके चलते लोगों को न ही रात में नींद है और न ही दिन में चैन। लोग मजबूर होकर अशियाने छोड़कर सुरक्षित स्थान पर पहुंच रहे हैंं।


पहाड़ों पर हुई बारिश का कहर अब कासगंज जनपद के पटियाली तहसील क्षेत्र के गांव नगला जाटवान, हंसी नगला, नगला पद्म, नगला जयकिशन पर टूट रहा है। नगला जाटवान के हालात बद से बद्‌तर हो गए हैं। जिला प्रशासन ने नगला जाटवान को पूरी तरह से नाव के द्वारा खाली करा दिया है। वहीं कुछ परिवारों को श्मशान घाट पर पड़े टीन शेड में शिफ्ट कर दिया है, जबकि अन्य ग्रामीणों को नरदौली गांव में सिफ्ट करने की कवायद कर रहा है।

गंगा के सितम से बेखर हुए ग्रामीण

आलम यह है गंगा के लगातार बढ़ते जल स्तर से न दिन में ग्रामीणों का चैन है और न ही रातों में नींद आ रही है। उनके माथे पर चिंतक की लकीरें साफ दिख रही हैं कि कब गंगा मैया ग्रामीणों के आशियानों को समेट लें। हालांकि जिला प्रशासन बाढ़ पीड़ितों को खाद्य सामिग्री नाव द्वारा मुहैया करा रहा है। जिसके चलते कई परिवार घर से बेखर हो गए हैं।

Flood

बाढ़ से एक दर्जन संपर्क मार्ग ध्वस्त

लगातार बढ़ रहे गंगा के जल स्तर से प्रशासन द्वारा लगाये गए बांध पटियाली तहसील क्षेत्र में पूरी तरह से ध्वस्त हो गए। पानी के तेज बहाव के चलते सड़क मार्ग भी क्षतिग्रस्त हो गए। सुन्नगढ़ी से लेकर कादरगंज तक आधा दर्जन से अधिक मार्गों पर यातायात पूरी तरह से बंद पड़ा हुआ है।

संक्रामक बीमारियों के फैलने की आशंका

पटियाली तहसील क्षेत्र के बाढ़ की चपेट में आए ग्रामीण को अब संक्रामक बीमारियां फैलने की आशंका सता रही है। जिससे ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। उनका कहना है कि अगर बच्चों में चर्म रोग जैसी शिकायतें आती हैं तो कैसे उपचार करा पायेंगे। प्रशासन द्वारा बीमारियों से छुटकारा पाने के लिए अभी तक कोई पुख्ता इतजाम नहीं किए हैं।

प्रशासन के दावे हुए धरासाई

जिला प्रशासन द्वारा बाढ़ सभांवित इलाके में लगातार किए जा रहे दावे धरासाई हो गए। बांध सही करने में लाखों रूपए पानी की तरह बहाये गए थे, इसके बावजूद भी पटियाली तहसील क्षेत्र के आधा दर्जन गांव के ग्रामीणों को बाढ़ का दंश झेलना पड़ा।

Ad Block is Banned