दुखी किसानों ने रोकी सांसद की कार और इसके बाद जो हुआ..

दुखी किसानों ने रोकी सांसद की कार और इसके बाद जो हुआ..
दुखी किसानों ने रोकी सांसद की कार और इसके बाद जो हुआ..

jitendra verma | Updated: 28 Aug 2019, 08:09:00 PM (IST) Kasganj, Kasganj, Uttar Pradesh, India

अलीगढ़ से कासगंज आते समय दुखी किसानों ने सासंद की कार रोककर नारेबाजी की।

कासगंज। को-ऑपरेटिव कार्यालय नगला पट्टी जिला कार्यालय कासगंज पर निर्धारित मूल्य से अतिरिक्त दामों में बेची जा रही थी। किसानों ने सांसद राजवीर सिंह राजू भैया की गाड़ी रोक ली। परी बात बताई। खाद की शिकायत को लेकर क्षेत्रीय सांसद राजवीर सिंह गोदाम पर पहुंच गए। जहां उन्होंने कार्यालय में मौजूद कर्मचारियों को ही लताड नहीं लगाई, बल्कि उन्होंने संबंधित अधिकारियों को किसानों के साथ धोखाधड़ी करने वाले को-ऑपरेटिव कर्मचारियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

मूल्य अधिक
दरअसल कासगंज जिला को-ऑपरेटिव फैडरेशन कार्यालय नगला पटटी पर कई दिनों से खाद को लेकर किसान परेशान ही नहीं थे, बल्कि उन्हें कई माह से निर्धारित मूल्य से अधिक रेटों पर किसानों को खाद मिल रही थी और आज बुधवार को खाद को लेकर किसानों ने रोड जाम कर प्रदर्शन भी किया। सांसद राजवीर सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि आज मैं अलीगढ़ से कासगंज आ रहा था, तभी किसानों ने मेरी गाड़ी रोक कर कार्यालय के बारे में जानकारी दी। जब अंदर जाकर देखा तो आठ रुपये खाद की प्रति बोरी के हिसाब से अतिरिक्त लिए जा रहे थे। उर्वरक नाइट्रोजन के नाम पर 60 रुपये वसूल रहे थे, जबकि नाइट्रोजन की पैकेट देने का कोई अधिकार नहीं था। एक्सपायर डेट की दी जा रही थी। उन्होंने सदर एडीएम को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

68 रुपये अधिक की वसूली
उधर, सदर एसडीएम ललित कुमार ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जायेगी, जो भोले भाले किसानों को खाद के नाम पर लूटपाट करते हैं। खाद की बोरी पर 8 रुपये और उर्वरक के पैकेट पर 60 रुपये अतिरिक्त ले रहे थे। कुल मिलाकर किसानों से 68 रुपये अधिक लिए जा रहे थे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned