दीपावली से पहले सफाई कर्मियों ने लिया बड़ा फैसला, बढ़ सकती हैं मुश्किलें

Mukesh Kumar

Publish: Oct, 12 2017 09:01:04 (IST)

Kasganj, Uttar Pradesh, India
दीपावली से पहले सफाई कर्मियों ने लिया बड़ा फैसला, बढ़ सकती हैं मुश्किलें

दीपावली से पहले जिला प्रशासन की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

कासगंज। दीपावली का त्योहार नजदीक है। ऐसे में कासगंज जिले के ग्रामीण सफाई कर्मचारी अपनी 12 सूत्रीय मांगों और एडीओ पंचायत की हठधार्मिता को लेकर आंदोलन की राह पर है। गुरुवार को सैकड़ों सफाई कर्मियों ने जिला पंचायत राज अधिकारी के कार्यालय पर एक दिवसीय धरना दिया। इस दौरान सफाई कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन आंदोलन की चेतावनी दी है।

एक दिवसीय धरना दिया
उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के बैनर तले जिले के सैकड़ों सफाई कर्मचारी जिला पंचायत राज अधिकारी के कार्यालय पर जुटे। इस दौरान सफाई कर्मियों ने जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। दरअसल ये सफाई कर्मचारी एडीओ पंचायत के अलावा 12 सूत्रीय लंबित समस्याओं को लेकर खासे आक्रोशित हैं।

जिला प्रशासन को दिखाई ताकत
सफाई कर्मचारियों ने गुरुवार को आंदोलन के प्रथम चरण में एकजुटता दिखा कर जिला प्रशासन को अपनी ताकत का अहसास कराया। वहीं एडीओ पंचायत के खिलाफ कड़ा आक्रोश जताया। सफाई कर्मचारियों ने नारे लगाते हुए कहा कि एडीओ पंचायत की तानाशाही नहीं चलेगी नहीं चलेगी।

 

 

जिला प्रशासन पर लगाए आरोप
एक दिवसीय धरने का नेतृत्व कर रहे सफाई कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष नारायण दत्त वर्मा कहा कि मुख्य मांग वेतन विसंगति है। तीन तीन महीने तक वेतन नहीं मिलता। अधिकारी के घरों को काम भी कराया जाता है। जूतों की सफाई से लेकर सब्जी तक मंगाई जाती है। उन्होंने कहा कि उनसे अपने अपने क्षेत्र के गांव की सफाई कराई जाए। मृतक आश्रितों को बीमा दिलाया जाए। इसके अलावा उन्होंने एडीओ पंचायत पर उत्पीड़न का आरोप लगाया। उन्होंने नारेबाजी करते हुए कहा कि एडीओ पंचायत कासगंज की तानाशाही नहीं चलेगी चलेगी।

उग्र आंदोलन की चेतावनी
सफाई कर्मचारी संघ के महामंत्री सुरेंद्र कुमार ने जिलाप्रशासन को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर जिला प्रशासन द्वारा उनकी जायज मांगों को नहीं माना गया तो वे लोग भूख हड़ताल और उग्र आंदोलन करने का मजबूर होंगे ।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned