कासगंज बवाल: ABVP कार्यकर्ता की मौत के बाद धार्मिक स्थल में लगाई आग, कर्फ्यू जैसे हालात

गणतंत्र दिवस पर तिरंगा यात्रा के दौरान हुई हिंसा के बाद कासगंज में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं।

By: मुकेश कुमार

Updated: 27 Jan 2018, 11:38 AM IST

कासगंज। उत्तर प्रदेश के कासगंज में शुक्रवार को गणतंत्र दिवस के अवसर पर दो समुदायों के बीच बवाल हो गया। जमकर ईंट, पत्थर चले और फायरिंग हुई। जिसमें एक एबीवीपी कार्यकर्ता की गोली लगने से मौत गई। जबकि कई लोग घायल बताए जा रहे हैं। उपद्रवियों ने एक धार्मिक स्थल को भी आग के हवाले कर दिया। साथ ही दर्जनों वाहनों में तोड़फोड़ की। घटना के बाद इलाके में धारा 144 लागू कर दी गई है।

यह था मामला
गणतंत्र दिवस देशभर में हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा था, लेकिन कासगंज में जश्न के दौरान उस वक्त बबाल हो गया, जब एबीवीपी के कार्यकर्ता तिरंगा रैली निकाल कर जय श्रीराम, वंदे मातरम का नारा लगा रहे थे। इस बीच कासगंज सदर कोतवाली इलाके बिलराम गेट इलाके में दो समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए। उपद्रवियों ने तिरंगा यात्रा में शामिल बाइक सवार युवकों पर हमला बोल दिया। जमकर पत्थर बरसाए। फायरिंग की। बवाल में अभिषेक उर्फ चंदन नाम के युवक की गोली लगने से मौत हो गई। जबकि आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। सूचना पर पुलिस फोर्स के साथ डीएम, एसपी भी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने तनाव की स्थिति देखते हुए लोगों को लाठी के बल पर खदेड़ दिया।

धार्मिक स्थल को किया आग के हवाले
दो समुदायों में हुए बवाल के बाद शहर की स्थिति बिगड़ती जा रही है। एबीवीपी कार्यकर्ता की मौत के बाद उपद्रवियों ने एक धार्मिक स्थल को भी आग के हवाले कर दिया। जिससे उसमें रखा सामान जलकर राख हो गया।

इलाके में कर्फ्यू, फोर्स तैनात
हिंसक घटना के बाद एडीजे अजय आनंद कुमार और आईजी संजीव गुप्ता भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर रैपिड एक्शन फोर्स, पीएसी के जवानों को जगह-जगह तैनात कर दिया गया है। उनका कहना है कि जल्द उपद्रवियों को गिरफ्तार कर जेल की सलाखों में भेजा जाएगा। फिलहाल बवाल के बाद कासगंज में तनावपूर्ण स्थिति बनी हुई है।

Show More
मुकेश कुमार
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned