आठ वर्षीय बच्ची की निर्मम हत्या पर छलका बेबस मां का दर्द, बोली जैसे मेरी बेटी की हत्या हुई है, वैसे ही हत्यारे को सजा दी जाए

suchita mishra | Updated: 04 Jul 2019, 11:27:41 AM (IST) Kasganj, Kasganj, Uttar Pradesh, India

-उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित किया दौरा, घटनास्थल भी देखा
-आठ वर्षीय बच्ची की कर दी गई थी निर्ममतापूर्वक हत्या, पड़ोस के घर में मिला था शव

कासगंज। उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य निर्मला दीक्षित भिटोना गांव में पहुंची। उन्होंने मृतक बच्ची के परिजनों से मुलाकात की। हर संभव बेटी के कातिलों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का आश्वासन दिया।

यह भी पढ़ें: कल मौसम लेगा करवट, बेचैन करने वाली गर्मी और उमस मिलेगी राहत, जानिए मौसम विभाग की भविष्यवाणी

आठ वर्षीय बच्ची की हत्या हुई थी
आपको बता दें कि सदर कोतवाली क्षेत्र के गांव भिटौना में एक आठ वर्षीय बच्ची की उसकी बुरी तरह से हत्या कर दी। शव को ठिकाने लगाने के चक्कर में एक घर में छिपा कर रख दिया था। परिजनों ने बदबू आने पर वृद्ध महिला उम्रबानो के घर से बरामद कर लिया था। परिजनों ने अगवा कर बच्ची की हत्या की आशंका जताई थी।

यह भी पढ़ें: शादी के लिए प्रेमी-प्रेमिका ने रचा ऐसा ‘चक्रव्यूह’ कि घर वाले दहाड़े मारकर रह गए

बिलखते हुए ये बोली बच्ची की मां
निर्मला दीक्षित ने जिस घर में बच्ची का शव मिला था, उस घर का भी मौका मुआआना किया। बच्ची की मां को हर संभव मदद का भरोसा दिया। बच्ची की मां ने रोते हुए कहा कि जिस तरह उसकी बेटी की हत्या की गई है, उसी तरह हत्यारे को सजा दी जाए।

प्रशासन की लापरवाही नहीं
मीडिया के सवाल के जवाब पर निर्मला दीक्षित ने बताया कि यह प्रशासन की लापरवाही नहीं है। अपने ही घर में रिश्ते शर्मसार हो रहे हैं। बेटी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही वास्तविक घटना का पता चलेगा। केंद्र सरकार ने ऐसे नाबालिग बच्चों की हत्या करने वालों के खिलाफ सख्त कानून बनाया है,ताकि अपराधी अपराध करने से पहले सौ बार सोचें।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned