मुस्लिम बनकर पहले किया निकाह, ईसाई बनकर करने जा रहा था दूसरी शादी, तभी खुल गई पोल

-पहले मुस्लिम बनकर किया था निकाह अब ईसाई बनकर करने जा रहा था शादी।

कासगंज। शादीशुदा युवक को दूसरी शादी करना महंगा पड़ गया। दूसरी बार दुल्हा बनकर बारात लेकर पहुंचा युवक बिन दुल्हन ही वापस लौट गया। इस बाबत दूल्हे की पहली पत्नी ने गंजडुंडवारा थाना पुलिसको तहरीर देकर मामले में कार्रवाई किए जाने की मांग की थी।

यह भी पढ़ें- बारिश और ओलावृष्टि के बाद ब्रज में सर्दी का सितम जारी, तीन दिन से छाया है कोहरा

गंजडुंडवारा थाना पुलिस के मुताबिक कालका हाउसिंग गेट कमरा नंबर 1505 जिला पंचकूला हरियाणा निवासी आयशा पुत्री जलालुद्दीन उम्र 32 वर्ष ने थाने में दी। तहरीर में बताया कि मेरी शादी मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार दिनांक 16 नवंबर सन 2018 को मोहन सिंह पुत्र मुन्नालाल निवासी कालका टकरा मोहल्ला माली जिला पंचकूला के साथ हुई थी। मोहन सिंह पुत्र मुन्नालाल हरियाणा में प्राईवेट जॉब करता था। शादी के बाद सब कुछ ठीक-ठाक चल रहा था। दिनांक 29 जुलाई को आयशा और मोहन सिंह में कुछ बात को लेकर वाद विवाद हो गया। जिसकी शिकायत आयशा ने थाना कालका जिला पंचकूला में दर्ज कराई थी। दोनों में मारपीट का राजीनामा थाने में हो गया और मोहन सिंह आयशा को ठीक ठाक से रखने लगा।

यह भी पढ़ें- भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने की राष्ट्रीय परिषद के सदस्यों की घोषणा, देखें सूची

मोहन सिंह ने चुपचाप से दूसरा रिश्ता तय कर लिया। मोहन सिंह गंजडुंडवारा जिला कासगंज के कृष्णा टॉकीज के पास नगला भीकन में 15 जनवरी को बारात लाकर शादी कर रहा है, इस बात की जानकारी जब आयशा को हुई तो आयशा अपने परिजनों के साथ थाना गंजडुंडवारा आई और पुलिस को लिखित तहरीर दी। आयशा का पुलिस से कहना था कि शादी रुकवाई जाए, अन्यथा मेरा जीवन बेकार हो जाएगा। फिलहाल पीड़ित आयशा की तहरीर पर दूल्हा बिन दुल्हन के बेरंग लौट गया। वहीं पुलिस आगामी कार्रवाई में जुटी हुई है। वहीं बारात के दौरान दुल्हन हाथों में मेहंदी लगाये दूल्हे के इंजतार में पलके बिछाये इंजतार करती रही।

Show More
अमित शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned