इंदिरा आवास योजना के तहत मृतक के नाम पर राशि ले रहे लोग

इंदिरा आवास योजना के तहत मृतक के नाम पर राशि ले रहे लोग
Indira awas

Indresh Gupta | Publish: Jan, 30 2017 05:14:00 PM (IST) Katihar, Bihar, India

पीड़ित ने कहा कि जब इस बात को लेकर आरटीआइ से मिले जवाब के अनुसार वार्ड सदस्या के पास गए तो उन लोगों ने धमकी देते हुए उसे चले जाने को कहा।

कटिहार। जिले में भ्रष्टाचार का यह आलम है कि लोग मृतक के नाम पर अधिकारी व कर्मचारी की मिलीभगत से इंदिरा आवास की राशि का उठाव कर रहे है। वहीं जो जरूरतमंद है, वह ऑफिस के चक्कर ही लगाता रह जाता है। कुछ ऐसा ही मामला कोढ़ा प्रखंड की ग्राम पंचायत राज सिमरिया उत्तर वार्ड नं 13 का है। जिसमें मृत महिला के पुत्र ने डीडीसी व डीएम को आवेदन देकर मामले की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है।


मृतका के भतीजे अभय पांडे उर्फ पंडित कोलाशी निवासी ने बताया कि मोनाकी देवी का नाम वर्ष 2008-09 में ही इंदिरा आवास को लेकर सूची में डाला गया था। मोनाकी देवी की इस बीच मौत हो गई। इधर, मोनाकी देवी के नाम से इंदिरा आवास की राशि का आवंटन को स्वीकृति मिल गई।

नियम के अनुसार जब उसकी मौत हो गयी तो अधिकारी को वार्ड सदस्य को चाहिए कि उक्त राशि को सरकार को वापस कर देनी चाहिए, लेकिन उन लोगों ने ऐसा नहीं किया। वार्ड सदस्य ने पंचायत सचिव व इंदिरा आवास सहायक से मिल कर बैंक अधिकारी को अपने पक्ष में कर लिया तथा मृतका के खाता से इंदिरा आवास की राशि का अवैध तरीके से निकासी कर लिया।

इस बाबत डीडीसी मुकेश पांडेय ने कहा कि इंदिरा आवास की राशि अगर मृत व्यक्ति को आवंटित कर बैंक से अवैध तरीके से निकासी की गयी है, तो मामले की जांच की जाएगी।

मृतका के भतीजे अभय पांडे ने कहा कि जब उसे पता चला कि उसकी मां के नाम पर इंदिरा आवास की राशि का आवंटन हुआ है, तो बैंक प्रबंधन उन्हें सही जानकारी नहीं दे रहा था। इस बाबत उन्होंने आरटीआइ से जवाब मांगा। इसके तहत उसे इस बात की पुष्टि हुई कि उसकी चाची के नाम पर राशि का आवंटन कर निकासी कर ली गयी है।

डीएम व डीडीसी को दिया आवेदन 
 
इंदिरा आवास की राशि गलत एवं फर्जी तरीके से मृतका मोनाकी देवी के खाते से बैंक अधिकारी के मिली भगत से निकाल लिया है। पीड़ित ने कहा कि जब इस बात को लेकर आरटीआइ से मिले जवाब के अनुसार वार्ड सदस्या के पास गए तो उन लोगों ने धमकी देते हुए उसे चले जाने को कहा।

इस बात को लेकर पीड़ित परिवार ने उप विकास आयुक्त मुकेश पांडे व डीएम ललन जी को आवेदन दिया। इसमें पीड़ित परिवार ने उपरोक्त मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है। वहीं पीड़ित परिवार ने कहा कि मामले में दोषी आरोपित के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned