1200 किमी की तीर्थयात्रा पर 40 परिवार, 3 वाहनों में लोड किचन का सामान

महाराष्ट्र के परभणी जिले से काशी दर्शन के लिए निकला 120 लोगों का जत्था पहुंचा कटनी, रोजाना पैदल कर रहे 30 किलोमीटर का सफर

कटनी. तीन लोडर वाहनों में किचन का सामान लेकर तहसील जंतूर, जिला परमणी महाराष्ट्र के 40 से अधिक परिवार के सदस्य तीर्थयात्रा पर पैदल निकले हैं। 120 तीर्थयात्रियों का यह जत्था 23 दिन पैदल चलकर मंगलवार को कटनी पहुंचा। पैदल चाल में रफ्तार, हाथों में ढोलक, मजीरा और भक्ति गीतों पर झूमते श्रद्धालुओं की कतार देख लोगों की नजरें एकाएक इन पर टीकी रहीं। 

देवानंद महाराज के मार्गदर्शन में 5 फरवरी से निकली इस यात्रा के बारे में उन्होंने बताया कि पुराने जमाने में संत-मुनि ऐसे ही पैदल तीर्थस्थानों पर भगवान के दर्शन करने के लिए जाते थे। वर्तमान में साधन तो बहुत हैं, लेकिन वह भक्तिभाव गायब हैं। सनातन धर्म का संदेश देते हुए हम सब काशी में भगवान के दर्शन के लिए निकले हैं। उन्होंने बताया कि परमणी महाराष्ट्र से काशी की दूरी करीब 1200 किलोमीटर हैं। 

सभी प्रतिदिन 30 किलोमीटर से अधिक का सफर तय करते हैं और जहां भी रात्री होती है वहीं पड़ाव डालकर विश्राम करते हैं और सुबह होते ही आगे यात्रा पर निकल जाते हैं। उन्होंने बताया कि कई सदस्यों के साथ उनकी पत्नियां भी है, जो सफर में भोजन बनाने का कार्य करती हैं।

सिर्फ गैस सिलेंडर की समस्या
यात्रा में शामिल राधाकिशन घुगे ने बताया कि तीर्थयात्रा में किसी तरह की समस्या न हो इसके लिए तीन लोडर वाहनों में गैस सिलेंडर, किचन का सामान और राशन साथ लेकर चल रहे हैं। उन्होंने बताया कि अबतक राशन में कोई कमी नहीं आई है, लेकिन सिलेंडर को लेकर समस्या हो रही है। अभी 5 सिलेंडर खाली रखे हुए हैं, जिन्हें भरवाने का प्रयास कर रहे हें।
.
Show More
Abha Sen
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned