तीन पॉजिटिव के साथ कटनी में अब तक 30 कोरोना संक्रमित

- रॉबर्ट लाइन माधवनगर में कुछ दिन पहले कोरोना पॉजिटिव मिले चाचा-भतीजे के घर की एक महिला सदस्य और सिविल लाइन स्थित रिश्तेदार निकले कोरोना पॉजिटिव.

- समय पर लोगों तक नहीं पहुंंच रही पॉजिटिव रिपोर्ट की सूचना, जिला प्रशासन पर बेपरवाही के आरोप.

- सिविल लाइन कंटेनमेंट क्षेत्र, रेलवे के दो कर्मचारी भी संदिग्ध.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 11 Jul 2020, 11:08 AM IST

कटनी. राबर्ट लाइन माधवनगर से रीवा में सगाई समारोह में शामिल होने के बाद कोरोना संक्रमित होने वाले चाचा व भतीजे के परिवार की एक महिला सदस्य और शहर में सिविल लाइन स्थित रिश्तेदार की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई। दोनों को जिला अस्पताल स्थित कोविड-19 वार्ड में भर्ती किया गया। आइसीएमआर जबलपुर से रिपोर्ट आते ही शुक्रवार सुबह सिविल लाइन क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया। बतादें कि सिविल लाइन क्षेत्र में अधिकारियों का आवास भी है। क्षेत्र को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित करने के बाद जिला प्रशासन के अधिकारियों ने लोगों को कोरोना प्रोटोकाल का पालन करने के बारे में जानकारी दी।

 

सीएमएचओ डॉ. एसके निगम ने बताया कि दो व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के साथ ही मुरैना से अवकाश से लौटे जिला न्यायालय के कर्मचारी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आने के बाद अब कटनी में कुल पॉजिटिव की संख्या 30 पहुंच गई। इसमें 16 लोग अब ठीक होकर घर लौट गए हैं और 3 लोगों की मौत हो गई है। जिले में 11 एक्टिव केस है। उन्होंने बताया कि गुरूवार देर रात 44 लोगों की रिपोर्ट आइसीएमआर जबलपुर से प्राप्त हुई। इसमें 41 निगेटिव और 3 पॉजिटिव हैं।

 

शुक्रवार को 66 लोगों की सैंपलिंग हुई। इसमें 53 सैंपल जांच के लिए आइसीएमआर जबलपुर भेजा गया है। 13 सैंपल की जांच ट्रूनॉट मशीन में दी गई है। आशंका जताई जा रही है शुक्रवार को रेलवे के दो कर्मचारियों की स्थिति संदिग्ध है। हालांकि वास्तविक स्थित आइसीएमआर से रिपोर्ट के आने के बाद स्पष्ट होगी।
कोरोना पॉजिटिव की जानकारी सार्वजनिक करने और आसपास के रहवासियों को अलर्ट करने के मामले में प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आई है।

 

नागरिकों का आरोप है कि जिला प्रशासन द्वारा अब तक ऐसी व्यवस्था नहीं की गई जिससे कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट जल्द मिले और लोग एहतियात बरत सकें। कटनी सिविल लाइन में जिस युवक की रिपोर्ट गुरूवार रात आई है, उसे शुक्रवार सुबह जारी किया गया। गुरूवार को पूरे दिन युवक मोहल्ले में स्वतंत्र विचरण करते रहे। आशंका जताई जा रही है कि कोरोना रोकने के मामले में प्रशासन के ऐसे ढुलमुल रवैये से कोरोना की चपेट में आने वालों की संख्या में इजाफा होगा।

खास-खास
- सिविल लाइन में कोरोना पॉजिटिव आने वाले युवक के घर पर मौजूद आठ सदस्यों ने घर पर ही होम आइसोलेशन में रहने की मांग प्रशासन से की। अधिकारियों ने कहा अस्पताल में जांच के बाद निर्णय लिया जाएगा।
- जिला न्यायालय के जिस कर्मचारी की रिपोर्ट मुरैना से लौटने के बाद ट्रूनॉट मशीन में पॉजिटिव आई थी। शुक्रवार सुबह कर्मचारी की रिपोर्ट की पुष्टि आइसीएमआर जबलपुर से भी पॉजिटिव के रूप में की गई।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned