३० घंटे बाद भी नहीं लगा नकाबपोशों का सुराग, कब छूटेगा खाकी वर्दी से नाकामी का दाग

३० घंटे बाद भी नहीं लगा नकाबपोशों का सुराग, कब छूटेगा खाकी वर्दी से नाकामी का दाग
30 hours after the robbers not even clue

Narendra Shrivastava | Updated: 14 Jun 2019, 08:25:53 PM (IST) Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

12 लाख रुपये लूट की वारदात को अंजाम देकर रफूचक्कर हो गए अपराधी, अंधेरे में तीर चलाते रहे एएसपी व चार थानों के प्रभारी

कटनी। शिवा फॉच्र्यून टॉवर में ट्रांसपोर्ट कंपनी के मैनेजर के साथ गुरुवार रात घर में घुसकर लूट की वारदात को अंजाम देने वाले नकाबपोश बदमाश घटना के ३० घंटे बाद भी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। घटना के बाद से ही एएसपी और शहर के चार थाना के प्रभारी व ४० से अधिक जवान अंधेरे में तीर चला रहे हैं। बीती रात जिस घर पर घुसकर लाखों रूपये की लूट की वारदात को आरोपियों ने अंजाम दिया है, वहां राजस्थान के जोधपुर निवासी सुभाष डोडी का महावीर कार्गों मवूर्स के नाम पर ट्रंासपोर्ट कारोबारी के मैनेजर का घर है। माधवनगर क्षेत्र में शिवा फॉच्र्यून टॉवर के नाम से बनी कॉलोनी के पांचवे मंजिल के प्लैट नंबर ५०४ में मैनेजर प्रेमराज रहता है। ट्रांसपोटरों का भुगतान करने के लिए उसने ९ लाख रुपये से ज्यादा राशि बैंक से निकाली थी। गुरुवार रात ८.३० बजे के लगभग मैनेजर रुपये लेकर प्लैट पर पहुंचा। रुपयों से भरा बैग आलमारी में रख दिया। करीब साढ़े तीन लाख रुपये पहले से रखे थे। कमरा पहुंचकर मैनेजर किसी काम में लग गया। इधर कमरे में मौजूद नौकर खाना बनाने लगा। तभी चार से पांच की संख्या में नकाबापोश बदमाश प्लैट पर पहुंचे। दरवाजा खुलवाया। नौकर के दरवाजा खोलते ही बदमाशों ने स्प्रे सुंघाकर कुछ देर के लिए बेहोश कर दिया। पलंग पर रखे तकिए से मुंह दबाया और मारपीट की। आलमारी में रखे रुपये लेकर चंपत हो गए। जांच दल के साथ एएसपी शुक्रवार सुबह ८ बजे दोबारा घटनास्थल पहुंचे। कंपनी में कार्यरत कर्मचारी व संबंधियों से पूछताछ की। पीडि़त के बयान लिए। इधर, घटना की सूचना मिलने के बाद ट्रांसपोर्ट मालिक भी माधवनगर थाना पहुंचा। पुलिस ने जरूरी जानकारी ली। घटनास्थल से आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे से फुटेज तलाशे। साइबर सेल व सीडीआर लोकेशन की मदद ली, लेकिन कोई सुराग हाथ नहीं लगा।

घंटेभर बाद लगी पुलिस को जानकारी
वारदात के करीब घंटेभर बाद पुलिस को घटना के बारे में सूचना मिली। पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार, एडीशनल एसपी संदीप मिश्रा सहित शहर के शहर के चारों थानों के प्रभारी डॉग स्क्वॉड के साथ घटना स्थल पर पहुुंचे और देररात तक आरोपियों की खोजबीन की।

बार-बार बदल रहा था मोबाइल लोकेशन
वारदात के बाद आरोपियों ने पुलिस को चकमा देने के लिए अपना मोबाइल आसपास पर ही कहीं फेंक दिया था। मोबाइल से मिल रहे लोकेशन के आधार पर पुलिस ने गुरुवार देररात तक सर्चिंग की, लेकिन पता नही चल पाया। पुलिस की साइबर टीम को संदिग्ध मोबाइल का लोकेशन भी अलग-अलग स्थानों पर मिल रहा था।

कॉलोनी में दहशत,कलेक्टर-एसपी को सौंपा ज्ञापन
शिवा फॉच्र्यून कॉलोनी में हुई लूट की वारदात के बाद यहा रह रहे लोग दहशत में है। कॉलोनी में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नही होने को लेकर कलेक्टर व एसपी को ज्ञापन सौंपा। रहवासियों ने बताया कि रात में कौन आ रहा है या जा रहा है गेट पर कोई इंट्री नही होती है। सीसीटीवी कैमरे जो लगे है वे बंद पड़े है। चौकीदार भी नही रहता है। कलेक्टर को सौंपें ज्ञापन के माध्यम से कॉलोनीवासियों ने बताया कि सुरक्षा की मांग को लेकर कई बार कॉलोनी मालिक विकास गुप्ता व हीराचंद टहलरमानी से मांग की गई, लेकिन ध्यान नही दिया गया।

इनका कहना है
वारदात को अंजाम देने वाले आरोपियों का पता लगाया जा रहा है। जल्द ही आरोपी पुलिस की हिरासत में होंगे। संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है।
संदीप मिश्रा, एएसपी

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned