किशोरी के साथ छेडख़ानी पड़ी बुजुर्ग को भारी, जज ने सुनाई ५ साल की सजा

dharmendra pandey

Publish: Oct, 12 2017 10:36:52 (IST)

Katni, Madhya Pradesh, India
किशोरी के साथ छेडख़ानी पड़ी बुजुर्ग को भारी, जज ने सुनाई ५ साल की सजा

छष्ठम अपर सत्र न्यायाधीश की अदालत ने सुनाया फैसला, २८०० रुपये के अर्थदंड से किया दंडित

कटनी. किशोरी से छेड़छाड़ व जान से मारने की धमकी देने वाले झिंझरी निवासी आरोपी मुन्नी लाल आदिवासी (६०) को छष्ठम अपर सत्र न्यायाधीश अरूण प्रताप सिंह की अदालत ने ५ साल की सजा सुनाई है। साथ ही २८०० रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है।
विशेष लोक अभियोजक डीएस तारन ने बताया कि झिंझरी निवासी मुन्नीलाल आदिवासी २० नवंबर २०१४ को दोपहर १.३० बजे के लगभग एक १४ वर्षीय किशोरी को जबरन पकड़कर बिलहरी रोड से लगे एक पुलिया के पास ले गया था। किशोरी के शोर मचाने पर उसे जान से मारने की धमकी दी थी। किशोरी के शोर मचाने से आसपास के कुछ लोग मौके पर पहुंच गए और किशोरी को वृद्ध के चंगुल से छुड़ाया। मामले की जानकारी किशोरी ने घर जाकर परिजनों को दी। जिसके बाद मुन्नीलाल के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई। पुलिस ने धारा ३६३, ३२३, ३५४, ५०६भाग-२ भारतीय दंड संहिता और ७/८ पास्को एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया। मामले के अदालत में पहुंचने पर साक्ष्यों व गवाहों के आधार पर न्यायाधीश अरुण प्रताप सिंह की अदालत ने मुन्नीलाल को मामले में दोषी पाया। साथ ही उसे पांच साल के सश्रम कारावास व २८०० रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है।

इधर,

उधार के रुपये न चुकाने पर एक साल की सजा
प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत से सुनाया फैसला
कटनी. उधार में रुपये लेकर न चुकाने वाले एक आरोपी को प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट रितिका पाठक की अदालत ने गुरुवार को एक साल की सजा का फैसला सुनाया है। १००० रुपये के अर्थदंड से दंडित किया है।
एडीपीओ मनोज पटेल ने बताया कि अमीरगंज निवासी विजय लखेरा ने थाना बहोरीबंद के ग्राम खमतरा निवासी संगीता बाई से २० हजार रुपये उधार में लिए थे। रुपये मांगने पर विजय लखेरा द्वारा मारपीट, गाली-गलौज व जान से मारने की धमकी दी जाती थी। जिसके बाद महिला ने थाने में शिकायत कर दी थी। मामला अदालत तक पहुंच गया था। गुरुवार को मामले की सुनवाई करते हुए न्यायाधीश रितिका पाठक ने एक साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई है।
.........................................................

 

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned