वर्षों से नगर निगम कर रहा था 965 हितग्राहियों का इंतजार, अब करेगा ये काम...पढि़ए खबर

आइएचएसडीपी योजना में आवंटन के बाद पांच साल में नहीं आए पजेशन लेने, एमआइसी में निरस्तीकरण को भेजा जा रहा प्रस्ताव

By: mukesh tiwari

Published: 03 Mar 2019, 10:17 PM IST

कटनी. आइएचएसडीपी योजना के आवंटित 965 मकानों का आवंटन अब नगर निगम निरस्त करेगा। प्रस्ताव तैयार किया गया है और उसे एमआइसी में रखकर आवंटन निरस्त कराते हुए फिर से नवीन प्रक्रिया प्रारंभ कर योजना को पुर्नजीवित किया जाएगा। नगर निगम सीमा में योजना के तहत प्रेमनगर, इंद्रानगर, सरला नगर और अमीरगंज में वर्ष 2013 में 1762 मकानों के आवंटन को स्वीकृति दी थी। जिसमें वर्ष पहले चरण में 1465 हितग्राहियों को आवंटन हुआ था। साथ ही लोगों को मकानों की पजेशन लेने के साथ ही बैंक फाइनेंस आदि की प्रक्रिया पूरी करने सूचना भेजी गई। पांच वर्ष में नगर निगम में मात्र 500 लोगों ने ही पजेशन लिया है। शेष 965 हितग्राही आज तक निगम में मकान लेने नहीं पहुंचे। ऐसे लोगों को पजेशन लेने निगम तीन बार नोटिस भेज चुका है और उसके बाद भी प्रक्रिया पूरी करने नहीं पहुंचने वालों के आवंटन निरस्त करने का निर्णय लिया गया है। एमआइसी से आवंटन निरस्त कराने के बाद दो दिन का समय एक बार फिर से दावे आपत्ति के लिए भी निर्धारित किया जाएगा।
पहले प्रतीक्षा सूची को अवसर
पहले चरण में 1465 आवंटन होने के बाद 307 हितग्राही प्रतीक्षा सूची में हैं। निरस्तीकरण की कार्रवाई के साथ ही नवीन प्रक्रिया में सबसे पहले प्रतीक्षा सूची के हितग्राहियों को अवसर दिया जाएगा और उसके बाद नवीन आवेदन भी स्वीकार कर भवन आवंटन नगर निगम कराएगा। पजेशन ले चुके 500 हितग्राहियों में से अभी तक मात्र 75 लोगों ने फाइनेंस संबंधी कार्रवाई पूरी की है और शेष बचे 425 लोगों की लोन संबंधी प्रक्रिया को पूरी कराने में भी निगम मदद करेगा।
कब्जा जमाने वालों को भी बसाने की योजना
निगम क्षेत्र के चारों स्थानों पर बने भवनों में से कई घरों में लोगों ने जबरन कब्जा कर रखा है। जिनकी सूची तैयार कराई गई है। कब्जा करने वालों से भी चर्चा कर नगर निगम के अधिकारी उनसे भी मकान आवंटन की कार्रवाई पूरी कराएंगे ताकि उन्हें हटाए बिना ही योजना का लाभ दिया जा सके। कब्जा करने वालों को सबसे आखिरी में मौका निगम देगा।
कमेटी करेगी समस्याओं का निराकरण
आइएचएसडीपी योजना शहर में बंद होने की स्थिति में है। जिसे फिर से पुर्नजीवित किया जा रहा है। ऐसे में आवंटन के बाद विभिन्न समस्याओं से जूझ रहे हितग्राहियों की समस्याओं का भी निराकरण निगम करेगा। इसके लिए उपायुक्त की अगुवाई में कमेटी बनाई गई है। कमेटी 13 से 15 मार्च तक नगर निगम के कम्युनिटी हॉल में योजना के हितग्राहियों की सभी प्रकार की समस्याएं सुनेगी और उनका निराकरण कराएगी।
खास बातें-
- आइएचएसडीपी योजना में 1772 भवनों का होना था आवंटन।
- 1465 का आवंटन पहले चरण में किया शामिल।
- 500 लोगों ने ही मकानों का लिया है पजेशन
- तीन बार नोटिस देने के बाद भी सामने नहीं 965 हितग्राही
- प्रेमनगर, इंद्रानगर, सरला नगर व अमीरगंज में बने योजना के मकान
- आवंटन निरस्त करने के बाद दो दिन सुने जाएंगे दावे आपत्ति
इनका कहना है...
आइएचएसडीपी योजना में 965 हितग्राही आवंटन के बाद पजेशन लेने नहीं आए हैं। उनके आवंटन का प्रस्ताव तैयार कर लिया गया और उसे एमआइसी में रखकर निरस्तीकरण कराया जा रहा है। उसके बाद नवीन प्रक्रिया प्रारंभ करेंगे और मकानों का आवंटन कराया जाएगा।
अशफाक परवेज, उपायुक्त नगर निगम

mukesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned