एसीसी अधिकारी के निवास में कुंडी तोड़कर घुसे बदमाश, चाकू की नोक पर रात में लाखों के आभूषण व नगदी लूटे

महिला पर किया हमला, अड़ाई चाकू, सूचना मिलते ही जांच के लिए पहुंची पुलिस, शुरू की जांच

By: balmeek pandey

Published: 06 Sep 2021, 09:38 PM IST

कटनी. कैमोर नगर के बीचोबीच एकदम सुरक्षित जगह स्थित एसीसी की एसएस कालोनी के एक फ्लैट में शनिवार देर लूट की एक सनसनीखेज वारदात हुई है। फ्लैट एसीसी के सीनियर मैनेजर अखिल तिवारी का बताया जा रहा। अखिल तिवारी कल ही कैमोर से एसीसी के चंद्रपुर चांदा महाराष्ट्र प्लांट के लिए रवाना हुए थे। जिस वक्त यह वारदात हुई उस वक्त फ्लैट में उनकी पत्नी और 8 वर्षीय बेटी मौजूद थी। रात लगभग ढाई बजे आरोपी फ्लैट के मेन डोर की कुंडी तोड़कर घर में घुसे थे। जानकारी के अनुसार सीनियर मैनेजर अखिल तिवारी की ड्यूटी एसीसी के महाराष्ट्र स्थित चांदा प्लांट में शट डाउन के लिए लगी थी। अपनी ड्यूटी जॉइन करने वे कल शाम ही कैमोर से रवाना हुए थे। देर रात जब पत्नी और बेटी फ्लैट के एक कमरे में सो रहे थे तभी कुछ खट पट की आवाजें सुनकर उनकी पत्नी की नींद खुली। वो उस कमरे में पहुंची जहां से आवाज आ रही थी। कमरे में दो अनजान लोगों को अलमारी का ताला तोड़ते देख वो डर गईं, जोर से चीखी भी। तभी एक आरोपी ने उनके सिर पर किसी पेचकस जैसी ठोस वस्तु से हमला कर दिया। जबकि दूसरे ने उन पर चाकू तान दिया। अखिल की पत्नी को जान से मारने की धमकी देकर आरोपियों ने एक और अलमारी की चाभी उनसे ले ली जबकि एक अलमारी वे तोड़ चुके थे। लगग 15-20 मिनट में वारदात को अंजाम देकर आरोपी फरार हो गए।

पति को दी सूचना
वारदात के बाद डरी-सहमी पत्नी ने अखिल तिवारी की फोन पर जानकारी दी। अखिल तिवारी ने सबसे पहले डायरेक्टर प्लांट के आर रेड्डी को जानकारी दी। फिर अपने परिजनों को बताया। डायरेक्टर प्लांट के आदेश पर अखिल तिवारी ने अपनी आगे की यात्रा निरस्त कर दी और रात में ही वापस कैमोर के लिए रवाना हो गए। अखिल तिवारी जिले के बहोरीबंद क्षेत्र के विधायक प्रणय पांडेय के रिश्तेदार हैं। खबर मिलते ही प्रणय पांडेय के छोटे भाई भी कैमोर पहुंच गए थे।

टीआइ ने शुरू की जांच
वारदात की खबर मिलते ही कैमोर टीआई अरविंद जैन सुबह 4 बजे ही मौके पर पहुंच गए। उनकी सूचना पर फारेंसिक टीम भी खोजी कुत्ते को लेकर पहुंची। टी आई ने घर के सदस्यों के बयान लिए। सुबह फ्लैट और कॉलोनी में काम करने आने वालों से भी पूछताछ की। टी आई श्री जैन ने बताया कि जिस फ्लैट में यह वारदात हुई है वह पिछले कुछ दिनों से बंद था। एक दो दिन पहले ही उसका ताला खुला है। शायद आरोपी इसे सूना घर समझ के चोरी की नीयत से घुसे थे। एकाएक घर में महिला को देखकर वे घबरा गए। पुलिस इस वारदात को चोरी की वारदात मान रही है।

हीरे पन्ने की अंगूठियों सहित लाखों के थे आभूषण
कुल कितने के आभूषण चोरी हुए इस बारे में पुलिस अभी गणना कर रही है, जबकि वारदात के शिकार हुए अधिकारी निखिल तिवारी ने बताया कि हीरे की चार, पन्ना की एक अंगूठी सहित दो मंगलसूत्र, दो चैन और अन्य आभूषण थे। 12 हजार नगद भी थे। पुलिस इन आभूषणों का मूल्यांकन कर मामला दर्ज करेगी। इस वारदात ने एसीसी की सुरक्षा प्रणाली पर सवालिया निशान लगा दिया है। जिस कालोनी में वारदात हुई वहां प्रवेश करने के दो गेट है जिसमें एक गेट पर सुरक्षा कर्मी की ड्यूटी रहती है जबकि दूसरे गेट से सुरक्षा हटा दी गई है। एक अवरोध वाला छोटा गेट था वह भी टूटा हुआ पाया गया। वारदात के समय कॉलोनी की स्ट्रीट लाइट भी ट्रिपिंग के कारण बंद हुई थी। और तो और इतनी बड़ी कालोनी में कहीं सीसीटीवी कैमरे भी नहीं लगाए गए। बता दें कि एसीसी प्लांट के भीतर नवीनीकरण के कुछ बड़े काम चल रहे। अमहटा प्रोजेक्ट का काम भी जारी है। ये सभी बड़ी काम बाहरी ठेकेदार करा रहे जिनके पास सैकड़ों की संख्या में बाहर की लेबर है। बाहर के इन मजदूरों का कोई रिकार्ड न एसीसी के पास है ना ही पुलिस के पास।

balmeek pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned