कॉलोनाइजर ने मोटी रकम वसूलकर 200 लोगों को बेचे प्लाट व भवन, 9 साल में नहीं कराए विकास कार्य, अब होगा यह हस्र

अब प्रशासन भूखंड बेचकर कराएगा काम, माधव नगर क्षेत्र अंतर्गत शुभ सिटी का मामला, राजस्व, प्रशासनिक व नगर निगम के अधिकारियों ने किया निरीक्षण, विकास कार्य की बनाई गई योजना

By: balmeek pandey

Published: 24 Jul 2021, 09:38 PM IST

कटनी. शहर में कॉलोनी के नाम पर कॉलोनाइजर प्लाट काटकर भारी-भरकम रुपये ऐंठकर बेच देते हैं, लेकिन कॉलोनी में दी जाने वाली मूलभूत सुविधाओं का विस्तार नहीं कराते। हैरानी की बात तो यह है कि नगर निगम द्वारा बगैर सुविधाओं का विस्तार करने वाले कॉलोनाइजरों को एनओसी भी दे दी जाती है। बाद में जनता परेशान होती है। ऐसा ही एक मामला शुभ सिटी कॉलोनी का सामने आया है। यहां पर बड़ी संख्या में शासकीय विभागों में पदस्थ अधिकारी-कर्मचारियों ने अवाज उठाई तो प्रशासन हरकत में आ गया है। अब कॉलोनी के बंधक भू-खंडों को बेचकर कॉलोनी में विकास कार्य कराए जाएंगे।
जानकारी के अनुसार नगर पालिक निगम कटनी के कॉलोनी विकास अनुमति क्रमांक 285वी 20 जनवरी 2012 के माध्यम से ग्राम पड़वारा भूमि खसरा नंबर 161/1, 161/3, 203/4, 204/2, 204/4, 204/5, 204/12 एवं 204/16, रकबा 6.32 हेक्टेयर पर मेसर्स शुभ बिल्डर्स विकास गुप्ता कटनी को कॉलोनी निर्माण करने के लिए अनुज्ञा पत्र के माध्यम से प्रदान की गई। कॉलोनी का विकास शुभ सिटी के रूप में कराया गया है। यह कॉलोनी मानसरोवर कॉलोनी के निकट माधवनगर रेल्वे स्टेशन को जाने वाले मार्ग के समीप स्थित है। बुधवार को एसडीएम बलवीर रमण, आयुक्त सत्येंद्र कुमार धाकरे, तहसीलदार संदीप श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी कर्मचारियों ने मौका निरीक्षण कर आवश्यक कार्रवाई की रणनीति बनाई।

परेशान हैं रहवासी
कॉलोनी परिसर में लगभग 200 परिवार निवासरत हैं, जिनके द्वारा संचालक से कई बार विकास कार्य कराने मांग की गई, लेकिन बल्डर्स ने ध्यान नहीं दिया। 2012 से अबतक 80 प्रतिशत भवन, भूखण्डों का विक्रय हो चुका है। कॉलोनाइजर अनुज्ञा में वर्णित शर्तो अनुसार विकास कार्य संचालक ने नहीं कराया। इस पर कारण बताओ नोटिस जारी किया गया, नगर पालिक निगम से प्रतिवेदन लिया गया। 30 जनवरी 2019 को शुभ सिटी कॉलोनी का संयुक्त रूप से स्थल निरीक्षण किया गया।

नहीं कराए ये विका कार्य
- रोड निर्माण, नाली निर्माण
- उद्यान, विद्युतीकरण, जल प्रदाय
- मल प्रवाह प्रणाली, सेप्टिक टैंक निर्माण कार्य
- पुलिया व नाला निर्माण कार्य
- आरसीसी ओव्हर हैड टैंक निर्माण कार्य

ये काम न होने से परेशान रहवासी
एलआईजी 536 से 540 के सामने, ईडब्ल्यूएस 01 से 16, ईडब्ल्यूएस 17 से 29, ब्लॉक डी में 153 से 205, ब्लॉक डी में 216 से 227, ब्लॉक डी में 242 से 254 के सामने रोड एवं नाली नहीं बनी। बता दें कि संयुक्त स्थल निरीक्षण प्रतिवेदन में बंधक भू-खण्डों के संबंध में विसंगतियां पाये जाने पर शुभ बिल्डर्स के बंधक रखे प्लाटों की रजिस्ट्री पर रोक लगाये जाने के लिए जिला पंजीयक कटनी को पत्र जारी किया गया, बावजूद जवाब नहीं दिया गया। 2019 में माह में शेष कार्यों को पूरा कराने कहा गया था, लेकिन कॉलोनाइजर की बेपरवाही जारी रही।

इनका कहना है
कॉलोनाइजर ने कॉलोनी में काम नहीं कराया। अब 20 मॉर्गेज प्लाट हैं उन्हें नगर निगम अपने हैंडोवर लेकर विकास कार्य कराएगी। प्लाटों को बेचकर राशि जुटाकर मूलभूत सुविधाओं का विस्तार कराया जाएगा। टीएल में आई शिकायत के बाद कलेक्टर के निर्देश पर यह निर्णय लिया गया है।
बलवीर रमण, एसडीएम।

balmeek pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned