एमपी के इस गांव में बह रहीं शराब की नदियां

पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई से हो रहा खुलासा, कई वर्षों से चल रहा था खेल, पुलिस और आबकारी नहीं कर रही थी कार्रवाई

By: narendra shrivastava

Published: 20 Jan 2021, 06:12 PM IST

बंधी/स्लीमनाबाद. मुख्यमंत्री ने शराब कारोबारियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए तो जिला प्रशासन व पुलिस ने कार्रवाई शुरू की। ताबड़तोड़ कार्रवाई से खुलासा हुआ कि जिले में बड़े पैमाने में अवैध तरीके से कच्ची शराब बनाई जा रही है व तस्करी हो रही है। विजयराघवगढ़, बरही, रीठी, बहोरीबंद क्षेत्र सहित जिलेभर में अवैध शराब का कारोबार वर्षों से फलफूल रहा है। पूर्व में आबकारी, पुलिस, प्रशासन द्वारा ठोस कार्रवाई न किए जाने से अवैध कारोबार चरम पर था। प्रदेश सरकार के द्वारा शराब माफियाओं के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान के तहत गुरुवार को लंबे अर्से बाद स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र के ग्राम तेवरी, सिहुडी (छपरा) और नैगवां में भी पुलिस ने सुबह 5 बजे कारवाई की। साथ ही संलिप्त लोगों के विरुद्ध प्रकरण दर्ज किया। प्रभारी पुलिस अधीक्षक सन्दीप मिश्रा, एसडीओपी पीके सारस्वत के निर्देशन में की गई कार्रवाई में लगभग 200 लीटर कच्ची शराब जब्त हुई व 1500 लीटर लाहन नष्टीकरण किया गया। शेष आरोपी मानु सपेरा, प्रकाश, कमलेश, दीपचंद्र ज्ञानी, चैना बाई, गीता, अजय सपेरा के विरूद्ध कार्रवाई की गई।
स्लीमनाबाद, बाकल, बहोरीबंद, कुठला व माधवनगर पुलिस थाना के पुलिसकर्मियों ने मिलकर शराब माफियाओं के ठिकानों पर दबिश दी। गांवों में सुबह से लोग बिस्तर से सो कर भी नहीं उठे थे कि पुलिस के पहुंचते ही हडक़म्प मच गया। पुलिस को देखते ही कुछ लोग भाग निकले। पुलिस के द्वारा तेवरी स्थित भटिया मोहल्ले में आरोपी जितेंद्र चक्रवर्ती के पास 60 लीटर कच्ची शराब कीमत लगभग 10 हजार रुपये व ग्राम नैगवां के निवासी गुड्डा सपेरा के पास से 65 लीटर कच्ची शराब कीमत लगभग 12 हजार रुपए जब्त की। इन दोनों के पास 1 हजार लीटर के लगभग महुआ लाहन मिला जिसे नष्ट किया गया। दोनों आरोपियों के विरुद्ध आबकारी अधिनियम की धारा 34(2) के प्रकरण दर्ज कर न्यायालय में पेश किया गया। इसके साथ ही सिहुड़ी ग्राम में कच्ची शराब जब्त की गई। तीनों गांवों में अलग-अलग टीम ने कारवाई। कार्रवाई में स्लीमनाबाद टीआइ अजय बहादुर सिंह, बहोरीबंद टीआई रेखा प्रजापति, बाकल थाना प्रभारी अभिषेक उपाध्याय, प्रधान आरक्षक अंजनी मिश्रा, अश्विनी यादव, मनीष असैया सहित अन्य पुलिसकर्मियों की भूमिका रही।

Show More
narendra shrivastava Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned