कई अधिकारी सिर्फ ठेकेदारों की ही सुनते हैं, आमजनों से नहीं सरोकार, आयुक्त ने भी मानी बेपरवाही

कार्यपालन यंत्री की मनमानी से ज्यादा परेशान नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी

By: balmeek pandey

Published: 29 Jul 2021, 09:14 PM IST

कटनी. शहर में नगर निगम के माध्यम से होने वाले विकास कार्य, हितग्राही मूलक योजनाओं का क्या हस्र है किसी से छिपा नहीं है। इसकी मुख्य वजह है अफसरों की बेपरवाही। नगर निगम के कार्यपालन यंत्री से लेकर सहायक यंत्री, उपयंत्री, प्रभारी सहायक यंत्री, प्रभारी उपयंत्री से लेकर कर्मचारियों की गंभीर बेपरवाही जारी है। समय पर कार्यालय न आना व समय पर कार्य संचादित न करना आदत में शुमार हो गया है। इन दिनों कार्यपालन यंत्री राकेश शर्मा की मनमानी से नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारी खासे परेशान हैं। बताया जा रहा है कि बहुत कम समय के लिए ही राकेश शर्मा कार्यालय पहुंचते हैं। बताया जा रहा है कि राजनीतिक पैठ व मुख्यालय के अधिकारियों से तगड़े संपर्क होने के कारण वे अपनी मनमानी कर रहे हैं। ऐसे में उनसे फाइल कराने के लिए कर्मचारी परेशान होते हैं। घर पर अधिकांश फाइलें बुलाई जाती हैं। कर्मचारी कार्यपालन यंत्री के निवास पर गेट के बाहर घंटों खड़े रहने विवश होते हैं। एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर कहा कि साबह तो सिर्फ ठेकेदारों की फाइल घर पर समय से करते हैं बाकी काम के लिए लटकाते रहते हैं। ऐसे में पीएम आवास योजना, लोक निर्माण विभाग, भवन अनुज्ञा, निर्माण शाखा, एनयूएलएम आदि के कार्य खासे प्रभावित हो रहे हैं। वहीं नियम विरुद्ध हो रहे कार्यों में कार्रवाई न करना अपने आप में बड़े सवाल हैं।

समय पर नहीं उठेगा कचरा तो लगेगी पैनाल्टी
मंगलवार को नगर निगम में एमएसडब्ल्यू की बैठक हुई। बैठक में बरही, कैमोर, विजयराघवगढ़ नगर परिषद के सीएमओ मौजूद रहे। इस बैठक में नगर निगम आयुक्त सत्येंद्र धाकरे ने एमएसडब्ल्यू के कार्यों की समीक्षा की। बैठक में शहर व नगर परिषदों में साफ-सफाई शहर की ठीक नहीं होना पाया गया। कचरा कलेक्शन भी ठीक नहीं हो रहा है। इस दौरान एमएसडब्ल्यू प्रबंधन को आयुक्त ने कहा कि समय पर कचरा उठवाएं। डोर-टू-डोर कचरा उठाव के साथ बनाए गए प्वाइंटरों से कचरा उठावाया जाए। यदि समय पर कचरा उठाव नहीं होता तो पैनाल्टी लगाई जाएगी।

इनका कहना है
लगातार कार्यपालन यंत्री राकेश शर्मा की शिकायत कार्यालय में न बैठने की आ रही हैं। फील्ड में काम बताकर वे गायब हो जाते हैं। मैंने स्पष्ट निर्देश दिए है कि कार्यालय में कक्ष निर्धारित करा बैठकर फाइलें करें, योजनाओं का समय पर क्रियान्वयन हो।
सत्येंद्र सिंह धाकरे, आयुक्त ननि।

balmeek pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned