आग लगते ही कंट्रोल रूम के साथ फायर ब्रिगेड चालक तक सीधे पहुंचेगी सूचना

-जिलेभर के 8 फायर ब्रिगेड वाहनों में लगाया जाएगा मोबाइल डाटा टर्मिनल सिस्टम, पुलिस दूरसंचार मुख्यालय भोपाल कराएगा काम

 

By: dharmendra pandey

Published: 20 Mar 2020, 11:49 AM IST

कटनी. जिले की फायर ब्रिगेड अब पुलिस के डायल 100 की तरह ही काम करेगी। जिले में यदि कहीं भी आगजनी की घटना घटी तो पहुंचने में देरी नहीं होगी। इसके लिए जिले के 8 फायर बिग्रेड वाहनों में एमडीटी (मोबाइल डाटा टर्मिनल) लगाया जाएगा। फायर ब्रिगेड वाहनों में एमडीटी लगाने का काम पुलिस दूर संचार मुख्यालय भोपाल द्वारा कराया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक जिले में यदि आगजनी की घटना घटती है तो जानकारी पहले कंट्रोल रूम जाती है। वहां से फायर ब्रिगेड को भेजी जाती है। सूचना का आदान प्रदान करने में देरी होती है। फायर ब्रिगेड वाहन भी समय पर नहीं पहुंच पाता और आगजनी से नुकसान उठाना पड़ता है।
ऐसे करेगा काम
रेडियो पुलिस के अफसरों के मुताबिक घटना की सूचना देने पर फायर ब्रिगेड के भोपाल स्थित कार्यालय को फोन जाएगा। उसी समय कंट्रोल रूम और फायर ब्रिगेड चालक को भी घटना के बारे में जानकारी लगेगी। जिससे सूचना मिलते ही वह घटनास्थल पर तुरंत पहुंच सकेगा और काबू पा सकेगा। एमडीटी सिस्टम मोबाइल के आकार का होगा। पुलिस दूरसंचार मुख्यालय से रेडियो पुलिस को एमडीटी उपलब्ध करा दिया गया है। भोपाल में फायर ब्रिगेड कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके बाद ही लॉगिन आइडी पासवार्ड मिलेगा।

-जिले के 8 फायर ब्रिगेड वाहनों में मोबाइल डाटा टर्मिनल लगाया जाएगा। यह मोबाइल की तरह होगा। जल्द ही सिस्टम लगाने का काम शुरू होगा।
पवन सिंह, रेडियो उपनिरीक्षक

dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned