देररात एटीएम तोडऩे घुसे लुटेरे, हैदराबाद से देखी लोकेशन और पहुंच गई पुलिस

देररात एटीएम तोडऩे घुसे लुटेरे, हैदराबाद से देखी लोकेशन और पहुंच गई पुलिस

Shiv Pratap Singh | Publish: Sep, 11 2018 12:42:22 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

स्लीमनाबाद थाना क्षेत्र में सेंट्रलबैंक एटीएम को बना रहा थे शिकार

कटनी/स्लीमनाबद . स्लीमनाबाद थाना अंतर्गत सेंट्रल बैंक की शाखा एटीएम में देररात तीन लुटेरों ने एटीएम तोडऩे का प्रयास किया। इसी बीच बैंक प्रबंधन की सूचना पर मौके पर पुलिस पहुंच गई और तीनों लुटेरों को घेराबंदी कर रंगेहाथों दबोच लिया। पूछतछ में आरोपियों ने स्लीमनबाद तिराहे में एक मकान में बंधक बनाकर लूट की वारदात को अंजाम देना भी कबूल किया है। तीनों आरोपियों को सोमवार को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।
थाना प्रभारी सुधाकर बारस्कर ने बताया कि थाना प्रभारी सुधाकर बारस्कर ने बताया कि बीती रात करीब 12.40 बजे मुंह में पकड़ा बांधकर तीन युवक एटीएम में दाखिल हो गए थे। एटीएम से छेडख़ानी कर उसे खोलने का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान एटीएम में लगे सीसीटीवी कैमरे की रिकॉर्डिंग हैदराबाद कार्यालय में देखी जा रही था, जिसमें तीनों आरोपी कैद हो गए। हैदराबाद से स्लीमनाबाद शाखा प्रबंधक सौरभ सिन्हा को सूचना दी गई। शाखा प्रबंधक की सूचना पर एटीएम की घेराबंदी कर आरोपी चीटा उर्फ इरफान, गुड्डु उर्फ वीरेन्द्र शर्मा निवासी स्लीमनाबाद, गोलू उर्फ जितेन्द्र दुबे निवासी तिहारी को पकड़ा गया। आरोपियों से एटीएम मशीन में छेड़छाड़ करने व तोडऩे वाले औजार सहित एक दोपहिया वाहन जब्त किया गया है।


पूछताछ में कबूला बंधक बनाकर लूट करना
थाना प्रभारी बारस्कर ने बताया कि पूछताछ में तीनों आरोपियों ने 24 अगस्त की डॉक्टर दीपांकर राय के घर लूट की वारदात को अंजाम देना भी कबूला है। इस वारदात को अंजाम देने के लिए तीनों आरोपियों ने घर के सभी तालों को तोड़ दिया था और डॉक्टर राय के बेटे को बंधक बना लिया था। डॉक्टर राय बचाव करने पहुंचे तो आरोपी उनपर रॉड से हमला कर भाग निकले थे।

सुरक्षित नहीं बैंकों के एटीएम
जानकारी के अनुसार जिलेभर में बैंकों के एटीएम की सुरक्षा को लेकर बैंक प्रबंधन ही लापरवाही कर रहे हैं। स्लीमनाबाद में जिस एटीएम को तोडऩे का प्रयास किया जा रहा था, उसके गार्ड मौजूद नहीं था। इसी तरह की स्थिति जिले के 50 फीसदी एटीएम में होती है। गार्ड तैनात न होने से लुटेरों को वारदात करने में आसानी हो जाती है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned