सीएम के कार्यक्रम में किसानों को पहले खिलाया बदबूदार खाना, अब अफसर दे रहे बेतुके बयान, पढ़कर हो जाएंगे हैरान

dharmendra pandey

Publish: Feb, 15 2018 09:18:38 AM (IST) | Updated: Feb, 15 2018 10:42:48 AM (IST)

Katni, Madhya Pradesh, India
सीएम के कार्यक्रम में किसानों को पहले खिलाया बदबूदार खाना, अब अफसर दे रहे बेतुके बयान, पढ़कर  हो जाएंगे हैरान

कटनी में कार्यक्रम और विजयराघवगढ़ से आया था किसानों के लिए भोजन

कटनी. भावांतर योजना में किसानों के लिए जिलास्तरीय कार्यक्रम का आयोजन सोमवार को कटनी में हुआ, लेकिन भोजन ३० किलोमीटर दूर विजयराघवगढ़ से बनकर यहां आया। कार्यक्रम के बाद किसानों को भोजन के पैकेट मिले और सब्जी से बदबू आने के बाद किसानों ने खाने से मना कर दिया। तभी कार्यक्रम के मुख्य अतिथि विधायक संदीप जायसवाल ने कृषि विभाग के अधिकारियों को फटकार लगाई। फटकार के बाद फौरन ही प्रशासन हरकत में आ गया। कलेक्टर विशेष गढ़पाले के निर्देश पर खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग ने भोजन की सैंपलिंग करवाकर जांच के लिए स्टेट लेबोटरी भोपाल भेजा है। सरगम स्वीट्स को ४५ रुपये प्रति पैकेट की दर पर १५ सौ पैकेट के ६७ हजार ५ सौ रुपये का भुगतान कृषि विभाग को करना था। भोपाल से रिपोर्ट आने तक इस पर रोक लगा दी गई है। विधायक की आपत्ति के बाद हरकत में आया प्रशासन, खाने के सैंपल जांच के लिए भेजा भोपाल. भोजन बनाने वाले सरगम स्वीट्स के भुगतान पर कलेक्टर ने लगाई रोक

कृषि उपसंचालक बोले हल्की बदबू आ रही हो सेवन कर लेना चाहिए:
इधर किसानों को बदबू युक्त सब्जी दिए जाने के बाद कृषि विभाग के उपसंचालक एके राठौर का बयान भी चर्चा में है। भावातंर योजना में किसानों को दिए गए भोजन को लेकर राठौर का कहना है कि सब्जी बदबू आ रही थी, वह विषाक्त नहीं थी। सब्जी से हल्की बदबू आ रही हो तो सेवन कर लेना चाहिए। इससे पेट में सिर्फ हल्की सी गुडग़ुड़ाहट होती है, और कोई नुकसान नहीं होता है।

वर्जन
भावांतर योजना पर आयोजित कार्यक्रम sp किसानों के लिए भोजन का काम विजयराघवगढ़ स्थित सरगम स्वीट्स को दिया गया था। शिकायत के बाद भोजन जांच के लिए भोपाल भेजा गया है। जांच रिपोर्ट आने तक भुगतान पर कलेक्टर के निर्देश पर रोक लगा दी गई है।
एके राठौर उपसंचालक कृषि कटनी

1
Ad Block is Banned