तीसरी आंख से होगी इस स्टेशन की निगरानी, अपराधियों की आएगी शामत

पहले चरण में लगे 16 सीसीटीवी कैमरे, चोरी सहित संदिग्ध गतिविधियों पर लगेगी लगाम

 

By: shivpratap singh

Published: 13 Apr 2018, 08:08 AM IST

कटनी. लंबे इंतजार के बाद आखिरकार रेलवे स्टेशन तीसरी आंख की जद में आ गया। यात्री सुरक्षा के लिहाज से कटनी जंक्शन को देर से ही सही कैमरों की सौगात मिल गई। प्रथम चरण में यहां १६ सीसीटीवी कैमरे अलग-अलग जगहों पर लगाए गए हैं। कैमरे लगने से स्टेशन के प्लेटफॉर्म से लेकर पूरे रेलवे परिसर में होने वाली आपराधिक गतिविधियों पर लगाम लगाने में रेल पुलिस को मदद मिलेगी। हालाकि कैमरों ने अबतक काम करना शुरू नहीं किया है। रेलवे अफसरों का कहना है कि एक-दो दिनों में ही कैमरे काम करना शुरू कर देंगे। इसका कंट्रोलरूम प्लेटफॉर्म पांच के बाहर मौजूद आरपीएफ थाना में बनाया जाएगा। कैमरे लगने से प्लेटफॉर्म सहित स्टेशन के बाहर होने वाली वारदातों को रोकने में मदद मिलेगी। सुरक्षा और निगरानी के लिए सभी प्लेटफॉर्म, प्रवेश द्वार, सर्कुलेटिंग एरिया, टिकट बुकिंग हाल, वेटिंग रूम में कुल १६ कैमरे लगाए गए हैं।
24 घंटे कैमरे के लाइव फुटेज
रेलवे परिसर से वाहन चोरी, प्लेटफॉर्म से यात्रियों का सामान पार होने की कई वारदातें सामने आती हैं। वारदात के बाद बदमाश बड़े आराम से गायब हो जाते हैं। रेलवे अफसरों के अनुसार अब 24 घंटे कैमरे के लाइव फुटेज के जरिए परिसर की निगरानी होने से वारदातें थमेंगी। कैमरे के जरिए बदमाशों को पकडऩे में भी ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ेगी।
रेल पुलिस को मिलेगी राहत
कम स्टाफ और पुराने साधनों से सुरक्षा का जिम्मा उठा रही रेलवे की जीआरपी व आरपीएफ को सीसीटीवी कैमरों से काफी मदद मिलेगी। जीआरपी थाना प्रभारी जयंत मरस्कोल्हे का कहना है कि कैमरों से 24 घंटे निगरानी में सहयोग के अलावा किसी घटना के बाद भी फुटेज को देख बदमाशों तक पहुंचना अब आसान हो जाएगा।

--------------------------------

पटना-पुणे का इंजन फेल, १ घंटे देरी से पहुंची
कटनी. गाड़ी संख्या १२१५० पटना-पुणे एक्सप्रेस ट्रेन का इंजन गुरुवार को मैहर स्टेशन से टे्रेन निकलते ही फेल हो गया। इंजन में आई खामी के कारण ट्रेन करीब १ घंटे तक भदनपुर स्टेशन के समीप खड़ी रही। इस दौरान कटनी से एक इंजन तैयार कर भदनपुर तक भेजा गया और टे्रन को कटनी रेलवे स्टेशन तक लाया गया। इस दौरान ट्रेन करीब सवा घंटे तक लेट हुई। इधर, गर्मी के कारण ट्रेन में मौजूद यात्रियों को समस्या का सामना करना पड़ा।

shivpratap singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned