scriptChildren are getting sick due to hot winds, now close the school | गर्म हवाओं से बच्चे हो रहे बीमार, माता-पिता बोले अब स्कूल करें बंद | Patrika News

गर्म हवाओं से बच्चे हो रहे बीमार, माता-पिता बोले अब स्कूल करें बंद

स्कूल से लौटते वक्त दोपहर में चिलचिलाती धूप में बेहाल हो रहे लाल को देखकर अभिभावक अब ग्रीष्मकालीन अवकाश देने की मांग कर रहे हैं।

कटनी

Published: April 25, 2022 04:56:35 pm

कटनी. स्कूल से लौटते वक्त दोपहर में चिलचिलाती धूप में बेहाल हो रहे लाल को देखकर अभिभावक अब ग्रीष्मकालीन अवकाश देने की मांग कर रहे हैं। तेज गर्मी के बीच स्कूलों के खुलने को लेकर पत्रिका ने सर्वे के जरिए अभिभावकों का मत जाना। इसमें 72 प्रतिशत अभिभावकों ने प्रायमरी और मिडिल स्कूलों में तुरंत ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित करने की वकालत की है। ज्यादातर अभिभावकों ने प्रतिक्रिया में कहा कि स्कूल छूटने के बाद बच्चों के घर पहुंचने के समय तक धूप झुलसाने लगती है। गर्म हवा चलती है। इस दौरान बच्चे स्कूल से घर आते-आते सुस्त पड़ जाते है। हीट वेव की जकड़ में आकर बीमार पड़ रहे हैं।

गर्म हवाओं से बच्चे हो रहे बीमार, माता-पिता बोले अब स्कूल करें बंद
गर्म हवाओं से बच्चे हो रहे बीमार, माता-पिता बोले अब स्कूल करें बंद

शहर में 43 डिग्री पर पारा
इस बार गर्म शुष्क हवा के कारण पारा लगातार उछल रहा है, शहर में तापमान 43 डिग्री के आसपास बना हुआ है। सामान्य से 5-6 डिग्री सेल्सियस तापमान ज्यादा बना रहने के कारण भीषण गर्मी हो रही हैं। सुबह 11 बजे से ही सूरज आग उगलने लगता है। तेज धूप से व्यस्क तक बच रहे है। ऐसे में स्कूल जाने की मजबूरी में छोटे बच्चे परेशान हो रहे हैं।

छग में मिल चुकी है राहत

गर्मी तेज होने के साथ छत्तीसगढ़ सरकार ने स्कूलों में ग्रीष्मकालीन अवकाश की घोषणा कर दी है। इसके बाद जिले में अभिभावक भी मप्र सरकार से बच्चों को राहत देने वाले की आस में है। ताकि भीषण गर्मी में स्कूल भेजने और लू से बच्चों को बचाया जा सकें।

जानिये क्या कहते हैं परिजन
दोपहर के समय धूप इतनी तेज रहती है कि बाहर निकलने की इच्छा नहीं होती हैं। उस गर्मी में बच्चें मजबूरी में स्कूल जा रहे है। अब स्कूलों को बंद कर देना चाहिए।
-दीप पंजवानी, अभिभावक

स्कूलों का समय सुबह की पाली में कर दिया गया है। लेकिन छुट्टी होने के समय तक काफी धूप हो जाती है। बच्चे घर आते तक बेहाल हो रहे है। गर्मी की छुट्टी होना चाहिए।
-साक्षी वर्मा, अभिभावक

बच्चों पर रहम खाएं। तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा रहता है। इतनी गर्मी रहती है कि सब परेशान है। ऐसे में प्रायमरी स्कूल में तुरंत ग्राष्मकालीन अवकाश घोषित हो।
-अभिलाष पांडे, अभिभावक

परीक्षा के अलावा बच्चों को अभी स्कूल नहीं बुलाना चाहिए। सभी कक्षाओं के लिए ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित होना चाहिए।
-अनामिका दुबे, अभिभावक

गर्मी इतनी है कि बार-बार गला सूख रहा है। बच्चे पानी नहीं पीना चाहते है। फिर धूप में घर लौटते है। इससे लू लग जाती है। बीमार पड़ रहे है। कम से कम प्रायमरी में तो छुट्टी कर देना चाहिए।
-गीतांजली जैन, अभिभावक

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

वाराणसी कोर्ट में आज ज्ञानवापी मस्जिद को लेकर अहम बहस, जानें किन मुद्दों पर हो सकता है फैसलादिल्ली में आज एक बार फिर चलेगा बुलडोजर! सुरक्षा के लिए 400 पुलिसकर्मियों की मांगकांग्रेस नेता कार्ति चिंदबरम के करीबी को CBI ने किया गिरफ्तार, कल कई ठिकानों पर हुई थी छापेमारीभारत में पेट्रोल अमेरिका, चीन, पाकिस्तान और श्रीलंका से भी महंगामुस्लिम पक्षकार क्यों चाहते हैं 1991 एक्ट को लागू कराना, क्या कनेक्शन है काशी की ज्ञानवापी मस्जिद और शिवलिंग...योगी की राह पर दक्षिण के बोम्मई, इस कानून को लागू करने वाला नौवां राज्य बना कर्नाटकSri Lanka Crisis: राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे की बची कुर्सी, अविश्वास प्रस्ताव हुआ खारिज900 छक्के, IPL 2022 में रचा गया इतिहास, बल्लेबाजों ने 15वें सीजन में बनाया ऐतिहासिक रिकॉर्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.