कोरोना काल में जांच केंद्रों में मची है लूट, मजबूर लोगों से हो रही मनमानी वसूली

-सीटी स्कैन के लिए वसूले जा रहे 5-6 हजार रुपये
-नागरिकों में आक्रोश

 

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 30 Sep 2020, 02:37 PM IST

कटनी. कोरोना जैसी आपदा को भी कुछ लोगों ने अवसर में तब्दील कर लिया है। जो जहां है वहीं मनमानी पर उतारू है। मानों किसी पर किसी का कोई नियंत्रण ही नहीं। अब जांच केंद्रों की ही बात करें तो यहां मजबूर लोगों से जम कर उगाही हो रही है। इससे आम नागरिकों में जबरदस्त आक्रोश है।

नागरिकों का आरोप है कि सीटी स्कैन जो दो हजार 2200 रुपये में हो जाता था, उसके पांच से छह हजार तक वसूले जा रहे हैं। मजबूर लोग जैसे तैसे इसके लिए भी कर्ज लेकर भुगतान करने को विवश हैं। इसकी शिकायत सीएमएचओ कार्यालय तक की गई लेकिन कोई फर्क नहीं पड़ा। ऐसे में लोगों का गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है।

उधर मरीजों और उनके तीमारदारों का आरोप है कि शहर के सभी सीटी स्कैन सेंटर्स के अलग-अलग रेट हैं। कई स्थानों पर 6 हजार रुपये तक लिए जा रहे हैं। एक मरीज का कहना है कि पिछले कुछ समय से सांस की तकलीफ के मद्देनजर सीटी स्कैन करवाना चाह रहे थे लेकिन शुल्क को लेकर असमंजस में हूं कि क्या करूं। कुछ समझ में नहीं आ रहा।

इस बीच कांग्रेस ने निजी जांच केंद्रों में सीटी स्कैन का शुल्क निर्धारित करने की मांग की है। कटनी जिला शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष मिथलेश जैन एडवोकेट व जिला ग्रामीण के अध्यक्ष गुमान सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने कलेक्टर से इस मुद्दे पर चर्चा भी की और ज्ञापन भी सौपा। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि कोरोना संक्रमण के बाबत चिकित्सकों के परामर्श से सीटी स्कैन कराया जा रहा है। वर्तमान में कटनी जिला चिकित्सालय में सीटी स्कैन कराए जाने की कोई व्यवस्था नहीं है। इस कारण बीमार व्यक्ति निजी जांच घरों में सीटी स्कैन के लिए जा रहे हैं, जहां मनमानी वसूली की जा रही है। ऐसे में सीटी स्कैन की दरें भी निश्चिच की जाएं साथ ही जिला चिकित्सालय में अविलंब सीटी स्कैन मशीन की व्यवस्था की जाए।

गर्म होते मामले पर सीएमएचओ कार्यालय ने कहा है कि अभी भी कुछ स्थानों से अधिक शुल्क लिए जाने की शिकायतें मिली हैं, लेकिन इतने अधिक रुपये लिए जाने की बात सही नहीं है। ब्रेन की सीटी स्कैन और फेफड़ों के सिटी स्कैन के चार्ज में अंतर है। पहले भी ब्रेन के सीटी स्कैन में अधिक रुपये लिए जा रहे थे। अब भी यही स्थिति है। फेफड़ों के सीटी स्कैन का चार्ज करीब साढ़े चार हजार रुपये है। इन दिनों पीपीई किट पहन कर कोरोना काल में मरीजों का सीटी स्कैन किया जा रहा है। वही चार्ज जुड़ सकता है। फिर भी शहर में संचालित सभी सीटी स्कैन सेंटर्स में समान शुल्क होना चाहिए। सीएमएचओ कार्यालय इसके लिए प्रयास कर रहा है।

"कुछ स्थानों से अधिक शुल्क लेने की शिकायतें मिली हैं। लेकिन फेफड़े के सीटी स्कैन का चार्ज साढ़े 4 हजार तक ठीक है। यदि इसमें पीपीई किट का खर्च जोड़ा जाता है तो 5 हजार ठीक है। 22 सौ रुपये ब्रेन के सिटी स्कैन का चार्ज है। मरीज सभी सीटी स्कैन को एक ही समझते हैं। इसलिए ऐसी बातें सामने आती हैं। फिर भी शिकायतों के आधार पर जांच कराई जाएगी।" - आरबी सिंह, सीएमएचओ

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned