जीपीएफ की राशि निकालने के एवज में मांगी 6 हजार रुपये की रिश्वत, बाबू रंगेहाथ गिरफ्तार

लोकायुक्त ने की कारवाई, बहोरीबंद विकासखण्ड के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कूड़ा मर्दानगढ़ में पदस्थ था सहायक लिपिक

By: balmeek pandey

Updated: 13 Nov 2020, 08:54 AM IST

कटनी. बहोरीबंद विकासखण्ड के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कूड़ा मर्दानगढ़ में पदस्थ सहायक लिपिक को 6 हजार रुपये की रिश्वत लेना भारी पड़ गया। बुधवार को लोकायुक्त जबलपुर की टीम ने बहोरीबंद बस स्टेंड में लिपिक को 6 हजार रुपये की राशि लेते हुए रंगे हाथों दबोचा। लोकायुक्त के दल निरीक्षक स्वप्निल दास ने बताया कि बहोरीबंद विकासखण्ड की शासकीय माध्यमिक शाला कुम्हरवारा में लट्टी लाल रैदास प्रधान अध्यापक के पद पर पदस्थ हैं। उनके द्वारा शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कूड़ा मर्दानगढ़ में पदस्थ सहायक लिपिक सतीश कुमार मंडल के विरुद शिकायत दर्ज कराई थी कि जीपीएफ की राशि का पार्ट फाइनल निकलवाने के एवज में 6 हजार की मांग की गई है। प्रधानाध्यापक की शिकायत पर बुधवार को प्रधानाध्यापक के हाथों से सहायक लिपिक को 6 हजार की राशि लेते हुए बहोरीबंद बस स्टैंड में रंगे हाथों पकड़ा गया। कारवाई के दौरान लोकायुक्त दल मैं निरीक्षक स्वप्निल दास, निरीक्षक कमल उइके, आरक्षक जावेद, अतुल विजय बिष्ट एवं जीत सिंह शामिल रहे।

हाथ हो गए लाल
रिश्वत लेने वाले आरोपी बाबू के जब टीम ने हाथ धुलवाए तो वे रिश्वत से लाल हो गए। बता दे कि शिक्षक की शिकायत पर टीम ने कार्रवाई की योजना बनाई। इस दौरान बाबू को ट्रैप करने के लिए केमिकल युक्त नोट मुहैया कराए गए, जैसे ही बाबू ने अपनी जेब में रुपये रखे तो टीम ने उसी वक्त दबोच लिया। लोकायुक्त टीम द्वारा पकड़े जाते ही बाबू के चेहरे से हवाइयां उडऩे लगीं, पहले तो वह माफी मांगता रहा। बता दें कि जिले में लगातार कार्रवाई होने के बाद भी भ्रष्टाचार थम नहीं रहा।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned