विधायक की बस रोकने पर आरक्षक लाइन अटैच, विधायक बोले आरक्षक तो मेरा रिश्तेदार, एसपी ने दिया ये तर्क

बहोरीबंद विधायक की बस के कंडेक्टर के साथ कहासुनी करना उमरियापान थाने के एक आरक्षक को भारी पड़ गया है। मामले में उछाल आते ही शनिवार को पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार ने आरक्षक अनिल पांडेय को लाइन अटैच कर दिया है।

कटनी/उमरियापान. बहोरीबंद विधायक की बस के कंडेक्टर के साथ कहासुनी करना उमरियापान थाने के एक आरक्षक को भारी पड़ गया है। मामले में उछाल आते ही शनिवार को पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार ने आरक्षक अनिल पांडेय को लाइन अटैच कर दिया है। जानकारी के मुताबिक उमरियापान थाना में पदस्थ आरक्षक अनिल पांडेय शुक्रवार को एक आरोपी को ढीमरखेड़ा न्यायालय पेश करने लेकर जा रहे थेञ वापस लौटने के लिए ढीमरखेड़ा से उमरियापान आ रही बहोरीबंद विधायक की पांडे बस को रोका। लेकिन चालक ने बस को नहीं रोकी। थाना प्रभारी गोविंद सुरैया ने शनिवार को आरक्षक की ड्यूटी ढीमरखेड़ा रोड में वाहन चैकिंग के लिए लगाई। चैकिंग के दौरान पांडेय बस वहां से गुजरी, उसी समय विधायक की बस के कडंक्टर रिंकल चौरसिया और आरक्षक अनिल पांडेय के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। मामला बस मालिक बहोरीबंद विधायक के पास तक पहुंच गया। विधायक की 4 बसें उमरियापान थाना के भीतर खड़ी हो गई। मामला कुछ ज्यादा ही तूल पकड़ लिया। बस मालिक से बातचीत के बाद पुलिस अधीक्षक ने आरक्षक को लाइन अटैच किया। तब कही जाकर बस मालिक ने थाने से सभी बसों को अपने-अपने रूट पर भेजा। वहीं थाना प्रभारी गोविंद सुरैया ने बातचीत करने पर बताया कि शनिवार रात पांडे बस थाने में आकर खड़ी होने लगी। जैसे ही कहासुनी होने की जानकारी लगी। उच्च अधिकारियों को पूरा मामला बताया। एसपी ने आरक्षक को लाइन अटैच किया है।

इनका कहना है
कडंक्टर रिंकल हमेशा शराब के नशे में रहता है, समझाइश के बाद भी नहीं माना, शनिवार को वाहन चैकिंग के दौरान बस रोकी तो विवाद करने लगा और कहा कि दुश्मनी निकाल रहे हो ठीक नहीं होगा। जब में थाने पहुंचा तो देखा कि पांडेय बस सर्विस की कारें खड़ी हैं और फिर पता चला कि मुझे लाइन अटैच कर दिया गया है। इससे मैं बहुत दुखी हूं।

अनिल पांडेय, आरक्षक

 

VIDEO: गरीबों को नगर निगम ने नहीं दिए सैकड़ों आवास, चौकीदार व बाहुबलियों ने उठा दिया किराये पर, सामने आया बड़ा फर्जीवाड़ा

 

आरक्षक की विवाद व मनमानी करने संबंधी शिकायत मिली हैं। प्रथम दृष्टया आरक्षक को लाइन अटैच किया गया है। सोमवार को मामले की विस्तृत जांच एसडीओपी से कराई जाएगी, ताकि वास्तविकता का पता चल सके।
ललित शाक्यवार, एसपी।

आरक्षक अनिल पांडेय तो मेरा रिश्तेदार है। मैं तीन दिन से भोपाल में हूं। मामले की जानकारी ही नहीं है। कर्मचारियों से पता कराता हूं कि यह सब कैसे हो गया। हमारे द्वारा आरक्षक पर कार्रवाई के लिए किसी से बात नहीं की गई।
प्रणय पांडेय, विधायक बहोरीबंद।

balmeek pandey
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned