अप्रैल में कोरोना का प्रभाव रहा तो इस शहर में होगा दस करोड़ रुपए से ज्यादा का नुकसान

शादी-विवाह के सीजन में बैठ जाएगा कारोबार

By: sudhir shrivas

Updated: 19 Mar 2020, 06:58 PM IST

कटनी। कोरोना का असर अब शहर में होने वाले सामाजिक और धार्मिक आयोजनों पर पडऩे लगा है। मार्च में आगामी दो सप्ताह में होने वाले कई धार्मिक-सामाजिक आयोजन या तो रद्द हो गए हैं या फिर उनका स्वरूप बेहद छोटा कर दिया गया। टेंट और शादी ब्याह से जुड़े व्यापारियों का कहना है कि मार्च माह में 30 लाख रुपए से ज्यादा का नुकसान हो रहा है। कोरोना का असर अप्रैल माह में रहा तो नुकसान बढकऱ दस करोड़ रुपये से ज्यादा की आशंका जताई जा रही है।

इन आयोजनों पर कोरोना का असर

- 24 और 25 मार्च को होने वाले चेट्रीचंड महोत्सव का स्वरूप आयोजक मंडल द्वारा छोटा कर दिया गया है। समाज के झम्मटमल ठारवानी बताते हैं कि पहले वृहद कार्यक्रम होना था लेकिन कोरोना के कारण बाहर से आने वाले कलाकारों का कार्यक्रम रद्द
कर दिया गया है। मंच छोटा होगा और कार्यक्रम के दौरान लोग एक रास्ते से जाएंगे तो दूसरे से निकल जाएंगे।
- 3 व 4 अप्रैल को प्रस्तावित साईं बाबा का जूलूस और भंडारे का कार्यक्रम निरस्त कर दिया गया है। आयोजन समिति के सदस्यों ने बताया कि आयोजन अब कोरोना से निदान के बाद आगामी तिथियों में किया जाएगा।
- अप्रैल माह में शादी-ब्याह के ज्यादा आयोजन होंगे। ऐसे में कोरोना का असर इन आयोजनों पर पड़ा तो बड़ी संख्या में लोगों का रोजगार प्रभावित होगा। टेंट लाइट एसोसिएशन के अध्यक्ष अजय सरावगी ने बताया कि हलवाई, शादी घर, ब्यूटी पार्लर, सजावट और ट्रेवल्स सहित अन्य व्यवसाय पर सीधा असर पड़ेगा।

यह भी जानें

- राशन दुकानों में राशन वितरण के दौरान मशीन को सेनिटाइजर से साफ करने के निर्देश दिए गए हैं। इसमें नियमित दुकान खोलने और हितग्राहियों को राशन वितरण करने कहा गया है। राशन वितरण करते समय हितग्राहियों के मध्य न्यूनतम 3 मीटर की दूरी रखे जाने के साथ ही बीमार उपभोक्ताओं की अलग से लाइन लगाने कहा गया है। हाथों को भी बार-बार सेनेटाइजर से साफ करने के निर्देश दिए गए हैं।
- जिला अस्पताल में रोगियों के लिए चार बिस्तरीय आईसोलेशन वार्ड व शंका वाले व्यक्तियों के लिए क्वारेन्टाइन वार्ड बनाया जा चुका है। प्रतिदिन विदेशियों व विदेश से लौटे भारतीयों का परीक्षण किया जा रहा है। अभी तक किसी को कोरोना पॉजीटिव होने की खबर नहीं है।
- आधार पंजीयन के दौरान मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। सभी आधार ऑपरेटर्स व अन्य स्टॉफ नियमित रूप से अपने हाथ साफ करेंगे। केन्द्र में आधार पंजीयन के लिए आने वाले नागरिकों को उनके हाथ साबुन या पानी से धोने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। ऑपरेटर्स प्रत्येक एनरोलमेन्ट व अपडेशन के बाद बायोमेट्रिक मशीनों को अनिवार्य रूप से साफ करेंगे।

Show More
sudhir shrivas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned