कटनी में ही कोरोना की जांच, पहले दिन पांच सैंपल की टेस्टिंग

ट्रूनेट मशीन से एक दिन में 20 से ज्यादा सैंपल की जांच की क्षमता.

किसी मरीज की पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर दोबारा पुष्टि के लिए आइसीएमआर जबलपुर भेजा जाएगा सैंपल.

By: raghavendra chaturvedi

Updated: 24 Jun 2020, 10:32 PM IST

कटनी. कोरोना संक्रमण के संदिग्ध मरीजों की पहचान के लिए रक्त के नमूने की जांच अब कटनी में हो जाएगी। मंगलवार को यहां ट्रूनेट मशीन से रक्त परीक्षण प्रारंभ कर दिया गया। इससे एक दिन पहले आइसीएमआर से प्राप्त रिपोर्ट वाले दो नमूनों की जांच कर मशीन की टेस्टिंग की गई। टेस्टिंग में ट्रूनेट मशीन से प्राप्त नतीजे सही होने के बाद 23 जून से जांच प्रारंभ कर दिया गया। अस्पताल प्रबंधन ने बताया कि मशीन की क्षमता 30 जांच प्रतिदिन की है, लेकिन प्रत्येक जांच में लगने वाले समय को देखते हुए अनुमान है कि यहां प्रतिदिन 15 से 20 जांच होगी।

कोरोना के लिए गठित रैपिड रिस्पांस (आरआर) टीम के प्रमुख डॉ. समीर सिंघई ने बताया कि मशीन की क्षमता प्रतिदिन 30 परीक्षण करने की है। यह बात जरूर है ट्रूनेट मशीन में जिस मरीज की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी उसका सैम्पल दोबारा जांच के लिए आईसीएमआर जबलपुर भेजा जाएगा।

जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ. यशवंत वर्मा ने बताया कि ट्रूनेट मशीन से एक जांच करने में 30 से 45 मिनट तक का समय लग सकता है। इसलिए शुरुआत में अनुमान लगाया जा रहा है कि प्रतिदिन 15 से 20 जांच हो पाएगी।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned