video: आयुक्त के जेब में चूड़ी डालने पर निगम कर्मियों की हड़ताल, कांग्रेस अध्यक्ष बोले क्या वेतन भी छोड़ेंगे

विवेकानंद वार्ड में सड़क, बिजली पानी के मुद्दे पर बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने किया था धरना प्रदर्शन, ज्ञापन सौंपने के दौरान आयुक्त के जेब में चूडिय़ां डालने से नाराज नगर निगम कर्मचारियों ने गुरूवार को किया काम बंद हड़ताल.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 19 Mar 2021, 11:24 AM IST

कटनी. नगर निगम कार्यालय में गुरूवार सुबह कर्मचारियों ने काम बंद कर हड़ताल किया। यह हड़ताल बुधवार को कांग्रेस पार्टी के धरना प्रदर्शन के समय आयुक्त को ज्ञापन सौंपने के दौरान कांग्रेस नेत्री कविता सिंह द्वारा आयुक्त की जेब में चूड़ी डालने और अन्य लोगों के द्वारा अभ्रदता पर गिरफ्तारी पर था। गुरूवार को पूरे दिन नगर निगम परिसर में गहमा-गहमी का माहौल रहा।

कर्मचारियों ने अभ्रदता करने वाले कांग्रेस नेताओं के खिलाफ नारे लगाए और कलेक्टर के नाम नायब तहसीलदार को सौंपे ज्ञापन में गिरफ्तारी की मांग की। इधर, कांग्रेस नेता भी इस मामले में पीछे हटने के मूड में नहीं दिखे। शहर जिलाध्यक्ष मिथिलेश जैन कहा कि क्या हड़ताल करने वाले नगर निगम के कर्मचारी एक दिन का वेतन भी छोड़ देंगे? उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता महिला नेत्री कविता सिंह के साथ हैं। जनहित के मुद्दे आगे भी उठाते रहेंगे।

कांग्रेस पार्टी के शहर जिलाध्यक्ष मिथिलेश जैन ने कहा कि हड़ताल करने वाले नगर निगम के कर्मचारी क्या एक दिन का वेतन भी छोड़ देंगे। उन्होंने बताया कि जनसुविधाओं के मुद्दे पर प्रदर्शन करना कहां तक अनुचित है। हम कांग्रेस नेत्री व पूर्व पार्षद कविता सिंह के साथ हैं। शहर अध्यक्ष ने कहा कि विरोध करने वाले कर्मचारियों में कई ऐसे हैं जिनकी जांच हो जाए तो भ्रष्टाचार के कई मामले सामने आएंगे।

 

कांग्रेस नेत्री के खिलाफ कोतवाली थाने में दर्ज हुई एफआइआर
नगर निगम आयुक्त सत्येंद्र धाकरे की शिकायत पर कोतवाली पुलिस ने आरोपी कविता सिंह व अन्य के खिलाफ धारा 186, 294, 500, 143, 34 आइपीसी पर प्रकरण दर्ज किया। पुलिस ने बताया कि मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है।

वहीं कलेक्टर के नाम सौंपे ज्ञापन में इस मामले में ठोस कार्रवाई की मांग करने वाले कर्मचारियों ने बताया कि कांग्रेस नेताओं द्वारा बुधवार को पहले तो आयुक्त को ज्ञापन सौंपने की जिद की गई। कलेक्टर की मीटिंग समाप्त होने के बाद आयुक्त सत्येंद्र धाकरे ज्ञापन लेने पहुंंचे तो कांग्रेस नेत्री कविता सिंह व अन्य ने अभद्रता की। उनकी जेब में चूडिय़ां डाली गई। कर्मचारियों ने कहा इस मामले में ठोस कार्रवाई नहीं हुई तो आगे भी हड़ताल जारी रहेगी।

एक दिन पहले कांग्रेसियों ने घेरा था नगर निगम कार्यालय, आयुक्त के जेब में डालीं थी चूडिय़ां

शहर के विवेकानंद वार्ड सहित अन्य वार्डों में बिजली, पानी, सड़क जैसी मूलभूत सुविधाओं पर काम न होने से कांग्रेसी बिफर पड़े। कांग्रेस जिलाध्यक्ष मिथलेश जैन के नेतृत्व में 17 मार्च को नगर निगम में प्रदर्शन किया। पहले कार्यालय के बाहर, फिर गार्डन में नारेबाजी की। इसके बाद कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए। दो घंटे तक किया आयुक्त का इंतजार करते रहे। सवा तीन से सवा पांच बजे तक प्रदर्शन चला। मिथलेश जैन ने कहा कि विवेकानंद वार्ड में पार्षदों व महापौर ने भी कोई काम नहीं कराए। सुविधाओं के विस्तार की मांग को लेकर आयुक्त सत्येंद्र धाकरे से एक दिन पहले समय लेकर गए थे कि बुधवार को तीन बजे ज्ञापन सौंपेंगे। आयुक्त ने मिलने का आश्वासन भी दिया, लेकिन जब ज्ञापन देने पहुंचे तो नहीं मिले, सूचना भेजने के बाद भी नहीं आए। प्रदर्शन करते हुए रामधुन कांग्रेसी गाते रहे। आयुक्त के नहीं आने पर कांग्रेसी बिफर पड़े, प्रशासनिक अधिकारियों को फोन कर आयुक्त को भेजकर ज्ञापन लेने कहा, जब बात नहीं बनी तो एकएक वार्ड के लोग व कांग्रेसी मुख्य मार्ग पहुंचे और सड़क जाम कर दिया। 15 से 20 मिनट जाम लगा रहा।

nagar nigam
आयुक्त पहुंचे तो कांग्रेसियों ने समस्या समाधान की मांग रखी। इस दौरान पूर्व पार्षद कविता सिंह गौड़ आयुक्त के पास पहुंचीं और कहा कि ये चुडिय़ा पहन लीजिए और जेब में डाल दिया. IMAGE CREDIT:

जब आयुक्त पहुंचे तो...

जब आयुक्त पहुंचे तो कांग्रेसियों ने समस्या समाधान की मांग रखी। इस दौरान पूर्व पार्षद कविता सिंह गौड़ आयुक्त के पास पहुंचीं और कहा कि ये चुडिय़ा पहन लीजिए और जेब में डाल दिया, आयुक्त ने हाथ से अलग किया। वार्ड के लोगों ने कहा कि विवेकानंद वार्ड में 25 साल से विकास कार्य नहीं हो रहे। योजना क्रमांक 11, 12, 13 में शामिल की गईं भूमियां हैं, जो कि भूमि स्वामियों ने लोगों को बेच दी। वहां पर 400 से अधिक मकान तन गए हैं।

नगर निगम का तर्क है कि योजना की जमीन है, इसलिए विकास नहीं करेंगे। सुधारान्यास के समय योजना बनी, लेकिन न तो भूमि अधिग्रहित हुई और ना ही मुआवजा मिला, सिर्फ कागजों में योजना बनी। नगर निगम उस योजना को आगे भी नहीं बढ़ा पाई। योजना का हवाला देकर विकास न करना लोगों के समझ के परे है।

कांग्रेसी व वार्ड के लोगों ने कहा कि भाजपा के दबाव में ननि अधिकारी कांग्रेस की सुनते नहीं हैं, सिर्फ कमीशनबाजी और भ्रष्टाचार का खेल चल रहा है। भू-माफियाओं को संरक्षण दिया जा रहा है। इस दौरान कांग्रेस शहर अध्यक्ष मिथलेश जैन, ग्रामीण अध्यक्ष गुमान सिंह, रमेश सोनी, पंकज गौतम, गिरीश गर्ग, अजय कछवाहा, कविता सिंह, संजू गुप्ता, अशोक मौर्य, विजय मंगल चौधरी, जितेंद्र अहिरवार, साक्षी गोपाल साहू, गिरधारीलाल स्वर्णकार, जेके सराफ, जितेंद्र गुप्ता आदि मौजूद रहे।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned