घरों में छिपकर बैठे अपराधी, पुलिस पहुंची तो 254 को दबोचा

वारंटी निकले मुसटंडे, पुलिस पहुंची तो मारे बहाने, पुलिस ने 20 दिन में 254 वारटिंयों को दबोचा

By: shivpratap singh

Published: 24 Jul 2018, 12:19 PM IST

कटनी. आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने के बाद लंबे समय से फरारी काट रहे बदमाशों को पुलिस का तनिक भी खौफ नहीं था। वे अपनी फरारी के दौरान बेफिक्र रहने के साथ खा पीकर मोटे ताजे हो गये। कोई घर में आराम कर रहा था तो कोई चौक-चौराहे पर गप्पे मार रहा था। कोई पुलिस की भनक लगने के साथ ही छिप-छिपकर घूम रहा था। पुलिस को देखते ही अपराधियों ने तरह-तरह के बहाने भी बनाए। इसका खुलासा पुलिस द्वारा चलाए जा रहे अभियान में हुआ है। अभियान में पकड़े गए ज्यादातर बदमाश स्वस्थ पाए गए है। एसपी मिथिलेश शुक्ला के निर्देशन में पुलिस ने जिलेभर में बदमाशों, वारंटियों की धरपकड़ के लिए अभियान चला रखा है। इसके तहत बदमाशों के घरों तक जाकर पुलिस उनके बारे में पतासाजी का प्रयास कर रही है। जो इस अभियान के दौरान पकड़े जा रहे हैं, उन्हें तत्काल न्यायालय में पेश कर जेल भेजा जा रहा है।
ताबड़तोड़ कार्रवाई करने के निर्देश
1 जुलाई से जिले में वारंटियों की धरपकड़ के लिए अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत पुलिस ने 20 दिनों में 254 वारंटियों को दबोचा है। एसपी मिथिलेश शुक्ला व एएसपी विवेककुमार लाल खुद इस कार्रवाई की मॉनीटरिंग कर रहे हैं और लगातार थाना प्रभारियों को कार्रवाई के निर्देश दे रहे हैं।
---------------------------------
14 दिन में 58 बच्चों के चेहरे पर लौटी मुस्कान
ऑपरेशन मुस्कान के तहत पुलिस ने खोज निकाले बच्चे, अन्य की तलाश जारी
कटनी. घरों से भागने व लापता होने वाले नाबालिग बच्चों की तलाशी व पतासाजी के लिए शुरू हुए पुलिस के ऑपरेशन मुस्कान अभियान को सफलता मिल रही है। पुलिस ने 6 जुलाई से शुरू हुुए अभियान के तहत 14 दिनों में 58 बच्चों को खोज निकाला है और उन्हें परिजनों के सुपुर्द कर दिया है। एक बार फिर इन बच्चों के चेहरे पर मुस्कान लौट आई है। एएसपी विवेककुमार लाल ने बताया कि जिलेभर में अभियान के तहत गुमशुदगी के प्रकरणों में बच्चों की तलाशी की जा रही है।
प्रतिदिन बढ़ रहा लापता का आकड़ा
एक ओर जहां पुलिस बच्चों को तलाशने अभियान चला रही है वहीं दूसरे ओर नाबालिग किशोरियों के लापता होने का आकड़ा दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। कहीं किशोरियों स्कूल के रास्त से गायब हो रही है तो कहीं घर से भाग रही हैं। लगातार बढ़ रहे मामले ने पुलिस को चिंता में डाल दिया है।

shivpratap singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned