यहां शहर की सड़केंं सुबह शाम नजर आती हैं चारागाह...जानिए कारण

यहां शहर की सड़केंं सुबह शाम नजर आती हैं चारागाह...जानिए कारण

Mukesh Tiwari | Publish: May, 18 2019 12:19:29 PM (IST) Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

डेयरी बनी मुसीबत, कॉलोनियों में फैल रहीं गंदगी, रहवासी क्षेत्र से डेयरियों को बाहर शिफ्ट करने की योजना पर नगर निगम नहीं कर पाया काम, योजना के बाद अभी तक नहीं खोज पाए जमीन

कटनी. नगर निगम सीमा से बाहर डेरी ले जाने की योजना बरसों से पूरी नहीं हो पाई है। स्थिति यह है कि कई वार्डों में डेयरियों के कारण गंदगी और मवेशियों की धमाचौकड़ी से लोग परेशान हैं। नगर निगम द्वारा शहर के अंदर संचालित डेयरियों को हटाने के लिए योजना बनाई गई थी लेकिन उस पर आज तक अमल नहीं हो सका है। योजना के तहत शहरी सीमा से बाहर शासकीय भूमि पर डेयरी संचालकों को प्लाटों का आवंटन करते हुए उस पर पशुपालन कराया जाना था। दो पंचवर्षीय बीत जाने के बाद भी नगर निगम अभी तक जमीन की खोज भी पूरी नहीं कर पाया है।
इन स्थानों पर होती है समस्या
शहर के पुरानी बस्ती, गांधीगंज, प्रेमनगर, तिलक कॉलेज रोड, अमीरगंज, इंदिरा नगर सहित अन्य स्थानों पर डेयरियों का संचालन लोगों द्वारा किया जा रहा है। जिसके चलते गंदगी और बदबू से लोग परेशान हैं तो सुबह शाम मवेशियों का झुंड रास्तों से निकलने के कारण जाम की स्थिति और दुर्घटना की आशंका भी बनती है।
लमतरा के पास होना था शिफ्ट
नगर निगम ने मवेशियों को पानी की सुविधा को देखते हुए पूर्व में लमतरा फाटक के पास जमीन डेयरियों के लिए तय की थी। जमीन तय करने के बाद से लेकर अभी तक काम प्रारंभ नहीं हो पाया है। शहर के अंदर आधा सैकड़ा से अधिक डेयरियां संचालित हैं और रहवासियों से संचालकों का आए दिन विवाद भी होता है। प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारी महेन्द्र सिंह परिहार का कहना है कि शहर के डेयरियों को बाहर शिफ्ट करने की योजना है। जमीन उपलब्ध नहीं हो पा रही है। कलेक्टर से जमीन की मांग की गई है। जमीन मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned