जांच में जर्जर, फिर भी मंडरा रहा छात्रों, दुकानदारों पर सिर पर खतरा...

बस स्टैंड के नदीपार स्कूल में बनी पेयजल टंकी को जांच में पाया गया था जर्जर, भोपाल हादसे के बाद कराई गई थी जांच

By: mukesh tiwari

Published: 24 May 2018, 11:47 AM IST

कटनी. शहर के बस स्टैंड स्थित नदीपार स्कूल परिसर में पुरानी पेयजल टंकी से हादसे का खतरा बना हुआ है। भोपाल के कोलार क्षेत्र में लगभग चार साल पूर्व एक टंकी के रात को गिरने की घटना के बाद नगर निगम ने शहर की टंकियों की जांच कराई थी। जिसमें दो चरण में चार टंकियों से जांच टीम ने खतरा बताया था। उसमें से तीन स्थानों पर टंकी तोड़कर नवीन निर्माण करा दिया गया है जबकि एक स्थान पर अभी खतरा बना हुआ है। भोपाल की घटना के बाद नगर निगम ने इंजीनियङ्क्षरग कॉलेज जबलपुर की टीम से शहर की सभी पुरानी टंकियों की जांच कराई थी। जिसमें सुधार न्यास कॉलोनी, माधवनगर की टंकी नंबर दो को पहले चरण में जर्जर घोषित किया गया था। उसमें से दोनों को तोड़ दिया गया है। दूसरे चरण में शहर की आजाद चौक, वेंकट वार्ड, मदनमोहन चौबे वार्ड, फारेस्टर वार्ड व सिविल लाइन स्थित दो टंकियों की जांच भी की थी। डेढ़ साल तक टंकियों की पहली रिपोर्ट लंबित रही और बाद में आजाद चौक गांधी स्कूल के पास और बस स्टैंड में नदीपार स्कूल के अंदर स्थापित टंकी जांच रिपोर्ट में खतरनाक बताई गई थीं। उसमें से नगर निगम ने गांधी स्कूल के पास की पेयजल टंकी को हटा दिया है लेकिन अभी तक बस स्टैंड में कार्रवाई नहीं की गई है। उसके बगल में ही बड़ी टंकी बन जाने के कारण पुरानी टंकी से फिलहाल नगर निगम ने सप्लाई रोक दी है।
आधा दर्जन का कराया गया है सुधार
जांच रिपोर्ट में वेंकट वार्ड स्कूल के अंदर, मदनमोहन चौबे वार्ड, सिविल लाइन की दो और फारेस्टर वार्ड की पेयजल टंकी में सुधार की जरूरत बताई गई थी। जिसमें से इन टंकियों में नगर निगम की ओर से रिपेरिंग का कार्य कराया गया है।
इनका कहना है...
तीन टंकियों से खतरा था, जिन्हें तोड़कर नवीन निर्माण कराया गया है। बस स्टैंड में स्कूल के अंदर बनी टंकी की फिर से जांच कराई गई है, जिससे उसके गिरने का खतरा नहीं है। पास में ही बड़ी टंकी से सप्लाई दी जा रही है और उससे पानी की सप्लाई बंद की गई है। टंकी का उपयोग भविष्य में जरूरत पडऩे पर किया जाएगा, इसलिए उसके तोडऩे की कार्रवाई नहीं की गई है।
शशांक श्रीवास्तव, महापौर

mukesh tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned