अफसरशाही का कमालः दुर्गा पूजा की अनुमति के लिये सौ-सौ रुपये जमा कराये

कोरोना संकट के बीच नवरात्र पर्व को लेकर अफसरों का फरमान, प्रदेश सरकार के खाते में सौ रूपये जमा करो तब मिलेगी सार्वजनिक दुर्गा पूजन की अनुमति। शहर के 15 समितियों ने जमा किए सौ-सौ रूपये तब जाकर मिली अनुमति।

By: Hitendra Sharma

Published: 18 Oct 2020, 08:25 AM IST

कटनी. नवरात्र पर्व पर माँ दुर्गा पूजन उत्सव के सार्वजनिक आयोजन की अनुमति के लिए अफसरों ने अनूठा फरमान जारी किया। शहर में दुर्गा उत्सव समितियों को राज्य सरकार के खाते में सौ रूपये जमा करने कहा गया। अफसरों के इस अजीबो गरीब फरमान का पहले तो समितियों ने विरोध किया, अफसर नहीं माने तो बैंक में कतार में खड़े रहकर पहले सौ रूपये का चालान राज्य सरकार के 0029-00-800-0019 हेड में जमा किया। चालान की प्रति के साथ आवेदन किया। तब जाकर अनुमति मिली। शहर के 15 समितियों ने शुल्क जमा कर अनुमति ली। आयोजन समिति के सदस्यों ने कहा ऐसा पहली बार हुआ है, वह भी कोरोना संकट काल में। समितियों से सौ रूपये शुल्क लिए जाने पर कलेक्टर एसबी सिंह ने कहा कि ऐसा नहीं होगा, उन्होंने कटनी एसडीएम से फौरन बात करने की बात कही।

कांग्रेस ने कसा तंज
कांग्रेस पार्टी के शहर जिलाध्यक्ष मिथिलेश जैन ने कहा कि माँ दुर्गा पूजा स्थापना एवं विसर्जन की अनुमति के लिए सौ रूपये लिए जा रहे हैं। शिवराज सरकार में यह गलत हो रहा है। सौ रूपये शुल्क लिया जाना असंवैधानिक है।

जिम्मेदारों ने बताया क्लर्क की गलती
एसडीएम कटनी बलबीर रमण ने बताया कि नवरात्र उत्सव की अनुमति को क्लर्क ने राजस्व प्रकरण में दर्ज किया था। इसमें सौ रूपये शुल्क का प्रावधान है। जानकारी लगते ही फौरन रजिस्टर में सामान्य इंट्री कर बिना शुल्क के अनुमति जारी किया जा रहा है। 15 समितियों ने शुल्क जमा कर दिया था, 20 से ज्यादा समितियों को बिना शुल्क के अनुमति जारी किया है।

अनुमति के साथ ही सभी समितियों को कहा गया है कि दुर्गा पूजा के आयोजन में कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराना होगा। आयोजन में शामिल होने वाले भक्तों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। साथ पूजन के लिये मास्क पहनकर आना होगा। आयोजन स्थल पर सैनेटाइजर की व्यवस्था करनी होगी।

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned