ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कर्मियों की हड़ताल में विवाद, समझाइश देने पहुंचे एसपी

ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कर्मियों की हड़ताल में विवाद, समझाइश देने पहुंचे एसपी
कर्मचारियों से चर्चा करते एसपी

raghavendra chaturvedi | Updated: 23 Aug 2019, 11:07:53 AM (IST) Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

ग्रुप बी के कर्मचारियों ने तीन बार की अंदर जाने की कोशिश.

दूसरे कर्मचारियों ने रोका तो हुआ विवाद, पहुंची पुलिस.

ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कर्मचारी यूनियन ने की है 20 अगस्त से एक माह हड़ताल की घोषणा.

कटनी. ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में निगमीकरण के विरोध में कर्मचारी लगातार तीसरे दिन भी हड़ताल पर रहे। गुरुवार को हड़ताल के दौरान ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कटनी (ओएफके) में काम कर रहे ग्रुप बी के कर्मचारियों ने सुबह 8.30 बजे अंदर जाकर काम करने की कोशिश की। इस दौरान दूसरे कर्मचारियों ने रोका तो विवाद की स्थिति निर्मित हुई और पुलिस बुलवानी पड़ी।
ओएफके के बाहर विवाद स्थिति पर सबसे पहले एडिशनल एसपी संदीप मिश्रा पहुंचे, उन्होंने ग्रुप बी के कर्मचारियों से बात की। कुछ देर बाद एसपी ललित शाक्यवार ओएफके गेट पहुंचे और कर्मचारियों से चर्चा की। एसपी ने कहा कि यहां जो भी गतिविधि हो वह पूरी तरह से शांतिपूर्ण ढंग से हो।
इधर ग्रुप बी के कर्मचारियों के हड़ताल तोडऩे के प्रयासों पर ओएफके यूनियन नेताओं ने बताया कि कुछ कर्मचारी उपर यह संदेश देना चाह रहे हैं कि वे तो अंदर जाकर काम करना चाह रहे हैं, लेकिन उन्हे रोका जा रहा है। ताकि भविष्य में किसी बड़ी कार्रवाई के दौरान बचाव हो सके, जबकि अंदर से ये कर्मचारी व आला अधिकारी भी निगमीकरण के विरोध में हैं।
बतादें कि ऑर्डिनेंस फैक्ट्री के कर्मचारी यूनियनों ने 20 अगस्त से 19 सितंबर तक पूरे एक माह हड़ताल की घोषणा की है। यूनियन नेताओं ने बताया इस बीच सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो कर्मचारी अनिश्चितकॉलीन हड़ताल पर चले जाएंगे।
इस पूरे मामले पर एसपी ललित शाक्यवार बताते हैं कि ऑर्डिनेंस फैक्ट्री में हड़ताल के दौरान विवाद की सूचना मिलने पर मौके पर गए थे। हमने सभी कर्मचारियों से कहा है कि जो भी गतिविधि हो वह पूरी तरह से शांतिपूर्ण ढंग से हो।

 

Striking workers present in front of Ordnance Factory Gate
ऑर्डिनेंस फैक्ट्री गेट के सामने मौजूद हड़ताली कर्मचारी IMAGE CREDIT: Raghavendra

यह भी जानिए
- ओएफके में हैं 936 अधिकारी-कर्मचारी। ग्रुप ए में 24 में जीएम, एजीएम, जेटी, डीजीएम, डब्ल्यूएम, एडब्ल्यूएम व डॉक्टर शामिल हैं।
- ग्रुप बी में 78 कर्मचारी हैं। इसमें जेडब्ल्यूएम कर्मचारी शामिल हैं। एनजीओ में 98 कर्मचारी हैं, जिसमें चार्जमेन व अन्य आते हैं। एनआइइएस में 148 कर्मचारी हैं। इसमें ओएस, यूडीसी, एलडीसी, स्टोर कीपर व अन्य शामिल हैं।
- 22 अगस्त की सुबह 8.30 बजे, 10.30 बजे और दोपहर में एक बार ग्रुप बी के कर्मचारियों ने अंदर जाने की कोशिश की और दूसरे कर्मचारियों से हुआ विवाद।
- सुबह 10.30 बजे एसपी की समझाइस के बाद शांत हुआ विवाद। ओएफके जीएम ने एसपी को दी थी सूचना।
- एआइडीइएफ (आल इंडिया डिफेंस एम्लाइज फेडरेशन) इससे संबंध मजूदर संघ, आइएनडीडब्ल्यूएफ (इंडियन नेशनल डिफेंस वर्कर फेडरेशन) इससे संबंधित ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कर्मचारी यूनियन व बीपीएमएस (भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ) इससे संबंधित ऑर्डिनेंस फैक्ट्री प्रतिरक्षा मजदूर संघ कटनी यूनियन ने की है हड़ताल की घोषणा।

 

जब महिलाओं ने सहकर्मी की मृत्यु पर दिया कांधा

पांच दिन चलेगा अभियान 30 गांव में एक भी गरीब परिवार नहीं रहेगा बिना गैस-चूल्हा

बाघ शावक गिरा कुएं में, देखने उमड़ी ग्रामीणों की भीड़

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned