शहर के कई वार्डों में पेयजल संकट, परेशान शहरवासी

नगर निगम के अधिकारी नहीं दे रहे ध्यान, प्रशासक को भी नहीं चिंता

By: balmeek pandey

Published: 16 Apr 2021, 09:22 PM IST

कटनी. शहर के कई वार्ड में पेयजल की समस्या निर्मित हो गई है, लेकिन नगर निगम के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे हैं। लोग कई कई घंटों नल में बैठकर पानी का इंतजार करते हैं, लेकिन हर दिन उन्हें निराशा हाथ लगती है। कटनी नगर निगम का जल विभाग द्वारा आम जनता से दो टाइम पेयजल सप्लाई का टैक्स वसूल रहा है, लेकिन एक समय भी पेयजल मुहैया नहीं करा पा रहा। अमृत योजना भी दम तोड़ रही है। शहर के गुरुनानक वार्ड, सावरकर वार्ड, कावसजी वार्ड, राम निवास सिंह वार्ड, फारेस्टर वार्ड, वंस्वरूप वार्ड मदन मोहन चौबे वार्ड सहित अन्य कई वार्डों में पर्याप्त मात्रा में पानी की सप्लाई नहीं हो रही। लगातार समस्या सामने आने के बाद भी नगर निगम के जिम्मेदार अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे।
कार्यपालन पालन यंत्री, नोडल अधिकारी से लेकर आयुक्त को समस्या से कोई सरोकार नहीं हैं। कभी सप्लाई लाइन खराब होने तो, कभी कटायेघाट में बिजली न होने का बहाना बना दिया जा रहा है। नियमित मॉनीटरिंग न होने से कर्मचारी बेपरवाही कर रहे हैं और शहरवासी पेयजल के लिए हताश-निराश हैं। निवर्तमान पार्षद राजेश जाटव ने कई बार शिकायत की, लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ। सबसे बड़ी बात यह की जो फिक्स वेतन पम्प चालक महेंद्र उपाध्याय को सुपरवाइजर बनाकर रखे हैं, नियमित कर्मचारी को लूप लाइन में रखे हुए हैं। आम जनता से चक्रवर्ती ब्याज ली जा रही है, जो मप्र में कहीं ऐसा नहीं है, इसके बाद भी पेयजल मुहैया नहीं कराया जा रहा। राजेश जाटव ने कहा कि कलेक्टर प्रियंक मिश्रा जो कि नगर निगम के प्रशासक हैं, उन्हें शहर की समस्या से कोई लेनादेना नहीं है। राजकिशोर यादव ने बताया कि घंटाघर क्षेत्र में भी पानी की समस्या है, लेकिन नगर निगम द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned