पीएचई की सामने आई गंभीर लापरवाही: इस गांव में चार साल से 2 किलोमीटर दूर से पानी ढोने मजबूर आबादी

पेयजल के लिए लोग चार साल से हो रहे परेशान, योजना चालू कराने जिम्मेदार नहीं दे रहे ध्यान, बहोरीबंद क्षेत्र की ग्राम पंचायत सिहुडी का मामला

By: balmeek pandey

Published: 20 Nov 2020, 09:11 AM IST

कटनी/ सिहुडी बसेड़ी. ग्राम पंचायतों एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग की बेपरवाही के कारण ग्रामीणों को ठंड के दिनों में भी पेयजल के लिए खासी जद्दोजहद करनी पड़ रही है। कहीं पर नलजल योजना खराब होने तो कहीं पर हैंडपंपों के काम न करने से आसानी से पेयजल मुहैया नहीं हो पा रहा और विभागीय अधिकारी आंकड़ों में बेहतर व्यवस्थाएं बता रहे हैं। समीक्षा में भी सिर्फ आंकड़ों की बाजीगरी चलती है। बहोरीबंद तहसील क्षेत्र के ग्राम पंचायत सिहुडी बाकल में ठंड में लोगों को दो से 3 किलोमीटर दूरी से पानी ढोने के लिए विवश होना पड़ रहा है। इसका कारण यह है कि यहां पर बोरिंग खराब है और नलजल योजना चार साल से ठप है। मशीन खराब होने से नलजल योजना के तहत बनाई गई पानी की टंकी तक पानी नहीं पहुंच पा रहा। ऐसे में ग्रामीणों को कई किलोमीटर दूर हैंडपंप से पानी ढोना पड़ रहा है। हैरानी की बात तो यह है कि ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग तैनात है, लेकिन सिर्फ कागजों में व्यवस्थाएं दिखाई जा रही हैं।

आश्वासन तक सीमित अधिकारी
ग्रामीण मालती बाई, सुरभि, दुर्गा, नीरज, जितेंद्र, सरिता पटेल, कल्लू सोनी, परषोत्तम लोधी, गुलजार ठाकुर, रवि जैन, नेमीचंद जैन, धर्मेंद्र आदि ने बताया कि अधिकारियों ने यहां आकर कई बार आश्वासन दिया कि शीघ्र योजना चालू हो जाएगी। ग्रामीणों ने इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों से भी की, लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है। स्थानीय जनों ने बताया कि पंचायत की बोरिंग को जल स्तर नीचे चले जाने से टंकी से पानी की सप्लाई बंद है। जिसके चलते पूरी गर्मी लोग परेशान रहते हैं। वही अभी ठंड के समय भी और बारिश के बाद भी अब समस्या जस की तस बनी है। जनप्रतिनिधियों से कई बार टंकी तक सप्लाई के लिए पानी पहुंचाने की गुहार लगाई, लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया।

6 हजार लोग परेशान
ग्रामीणों ने बताया कि लगभग 6000 लोगों की आबादी वाला गांव है, जो सुबह से तीनों ऋतु ठंड, गर्मी, बरसात में समस्या बनी रहती है। खेतों की निजी बोरिंग से दूर-दूर से पानी लाना पड़ रहा है। स्थानीय निवासी सहित अन्य जनों का कहना है कि सरकार की योजना होने के बाद भी उन्हें इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है। ग्रामीणों ने कलेक्टर शशिभूषण सिंह से शीघ्र नलजल योजना को तत्काल शुरू कराए जाने का प्रबंध कराने मांग की है।

इन ग्रामीणों ने बताई समस्या
पानी की समस्या सिहुडी गांव में 12 महीने बनी रहती है। हैंडपंप में भीड़ होने से निजी बोरिंग का सहारा लेना पड़ता है, जिम्मेदार ध्यान नहीं दे रहे।
जितेंद्र लोधी, ग्रामीण।

घर का काम छोड़कर दिनभर पानी का इंतजाम करना पड़ता है। प्रतिदिन परेशानी बनी रहती है। इससे न सिर्फ घर का काम बल्कि पानी भरने में पढ़ाई भी प्रभावित रहती है।
मालती पटेल, स्थानीय निवासी।

इनका कहना है
वहां लगता है कुछ माह पहले पंप खराब हुआ है। सिहुंड़ी में पानी की समस्या है। जल जीवन मिशन के तहत गांव में पेयजल मुहैया कराए जाने के लिए योजना बनाई जा रही है। अब एक किलोमीटर दूर भी पानी मिलेगा तो पहुंचाने प्रयास होंगे।
इएस बघेल, कार्यपालन यंत्री, पीएचइ।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned