scriptEducation Department, Teachers, Government Schools, katni news | स्कूलों के संचालन में असमर्थ नगर निगम प्रशासन | Patrika News

स्कूलों के संचालन में असमर्थ नगर निगम प्रशासन

संविलियन व शिक्षा विभाग को सौंपने भेजा प्रस्ताव, शिक्षकों की भर्ती न होने व दर्ज संख्या कम होने के कारण लिया फैसला

कटनी

Updated: April 03, 2022 06:21:21 pm

कटनी। शहर का साधूराम शासकीय उमा विद्यालय किसी धरोहर से कम नहीं है, साथ ही केसीएस स्कूल और ए रविंद्र राव स्कूल भी अपने आप में एक खास अहमियत रखते हैं। ये तीनों स्कूल नगर निगम के हैं, जिनका संचालन भी नगर निगम करता है, लेकिन पिछले कुछ दिनों से शिक्षकों की कमी के चलते स्कूलों का न सिर्फ शैक्षणिक स्तर गिर रहा है बल्कि संचालन पर भी आंच आने लगी है। आपको जानकर हैरानी होगी कि नगर निगम प्रबंधन स्कूलों को चलाने में असमर्थ साबित हो रहा है और बात यहां तक आ गई है कि इन स्कूलों के संविलियन या फिर शिक्षा विभाग को हस्तांतरित करने का प्रस्ताव विभाग व शासन को भेज दिया है, इसकी मुख्य वजह विभाग की नीतियों के कारण आने वाली अड़चनें हैं। बता दें कि इस मामले में नगर निगम ने यह तर्क दिया है कि अध्ययनरत विद्यार्थियों की संख्या में कमी होने के कारण व पर्याप्त शिक्षक न होने से विद्यालयों के संचालन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। निकाय में 2014 से आदर्श कार्मिक संरचना लागू की गई है, जिसके तहत शिक्षकों के पदों की व्यवस्था नहीं की गई। शिक्षकों की नवीन नियुक्ति किया जाना संभव नहीं है।
यह भी रखा है तर्क : नगर निगम ने कहा है कि ए रविंद्र राव उमा विद्यालय में 64 एवं साधूराम स्कूल में 108 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। संख्या कम होने व स्टॉफ की कमी के चलते संविलिनय भी किया जा सकता है। इतना ही नहीं नगर निगम ने तीनों स्कूलों को शासन से अनुमति प्राप्त करते हुए शिक्षा विभाग को हस्तांतरित करने की पैरवी कर चुका है।

Education Department, Teachers, Government Schools, katni news
Education Department, Teachers, Government Schools, katni news

यह है शिक्षकों की स्थिति
बता दें कि तीनों ही विद्यालयों में शिक्षकों की स्थिति न के बराबर है। केसीसी उमा विद्यालय में 4 नियमित शिक्षक, दो संविदा शिक्षक, बाल मंदिर शिक्षिका 2 व आउटसोर्स से अतिथि शिक्षक 3 हैं। इसी तरह ए रविंद्रराव उमा विद्यालय में नियमित शिक्षक संविदा शिक्षक मात्र दो, 4 आउटसोर्स से अतिथि शिक्षक हैं। साधूराम उमा विद्यालय में नियमित 3, संविदा शिक्षक एक, बालमंदिर में शिक्षिका 2 व तीन अतिथि शिक्षक के भरोसे पढ़ाई चल रही है।

खास-खास
& तीनों स्कूलों में हैं मात्र 7 नियमित शिक्षक, डाइंग केडर के पदों में रखा गया है शिक्षकों को, सेवानिवृत्ति के कारण समाप्त हो रहे पद, नए पदों पर नहीं हो पा रही है भर्ती, शैक्षणिक कार्य हो रहा प्रभावित।
& साधूराम स्कूल के प्राचार्य ने कहा है कि कोविड के कारण संख्या में आई है गिरावट, वैक्सीनेशन के बाद बढ़ेगी संख्या, संविलियन उचित नहीं होगा व हस्तांतरण अधिकारी अपने विवेकानुसार लें निर्णय।
& प्रभारी प्राचार्य ए रविंद्र राव ने कहा है कि शाला संचालन के लिए डाइस कोड अनिवार्य है, वह शासन स्तर पर होता है, संविलियन उचित नहीं है, शासन से अनुमति के बाद तीनों स्कूलों के हस्तांतरण पर जताई है सहमति।
& प्राचार्य केसीएस स्कूल में शिक्षकों की कमी को देखते हए तीनों शालाओं को शिक्षा विभाग को हस्तांतरित करने पर जताई है सहमति, शासन से अनुमति के बाद आगे का लें निर्णय।

यह है स्कूलों में छात्रों की स्थिति
स्कूल केसीएस उमा विद्यालय
कक्षा संख्या
नवमीं 92
दसवीं 56
ग्यारहवीं 124
बारहवीं 72
ए रविंद्रराव उमा विद्यालय
नवमीं 17
दसवीं 15
ग्यारहवीं 24
बारहवीं 09
साधूराम उमा विद्यालय
नवमीं 45
दसवीं 26
ग्यारहवीं 26
बारहवीं 11

स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती हो नहीं रही है, प्रावधान भी नहीं है, दर्ज संख्या लगातार गिर रही है, ऐसे में स्कूलों के संचालन में कठिनाई जा रही है। इसको लेकर विभाग व शासन को प्रस्ताव स्कूलों के संविलियन या फिर शिक्षा विभाग को सौंपने भेजा गया है।
सत्येंद्र सिंह धाकरे, आयुक्त नगर निगम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंइलाहाबाद हाईकोर्ट से अनिल अंबानी को मिली राहत, उत्पीड़न कार्रवाई पर लगी रोक, जानिए पूरा मामलादो जुलाई से इन सुपरफास्ट ट्रेनों में कर सकेगें जनरल टिकट पर यात्राMaharashtra Political Crisis: उद्धव सरकार गिरने के बाद Twitter पर ट्रेंड कर रहा है 'उखाड़ दिया' हैशटैग, यूजर्स के निशाने पर हैं संजय राउतWorld Athletic Championhip:भारत को बड़ा झटका, सीमा पुनिया, भावना जाट और राहुल चैंपियनशिप से हटेPOLITICS: मध्यप्रदेश की सियासत से परिवारवाद का सफाया शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.