सरकारी व्यवस्था में लापरवाही का एक उदाहरण यह भी

वेयर हाउस में खरीदी केंद्र बनाया ताकि गेहूं सुरक्षित रहे, गोदाम के बजाए बाहर भंडारण, हजारों क्विंटल भीगा.

- बहोरीबंद के रूपनाथ वेयर हाउस में समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी केंद्र बचैया, पोड़ी में खरीदी के बाद सुरक्षित भंडारण में सामने आई बड़ी लापरवाही.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 20 May 2021, 09:48 PM IST

Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

कटनी. बहोरीबंद विकासखंड के समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी केंद्र बचैया,पोड़ी का खरीदी केंद्र रूपनाथ वेयर हाउस में बनाया गया। सरकार की मंशा थी कि वेयर हाउस में ही गेहूं खरीदी बना दिया जाए, जिससे खरीदी के बाद सुरक्षित भंडारण में लेटलतीफी से अनाज के खराब होने की गुंजाइश नहीं रहे।

जानकर ताज्जुब होगा कि इस खरीदी केंद्र में समीप में ही गोदाम होने के बाद भी हजारों क्विंटल गेहूं तब बाहर रख दिया गया, जब तीन दिन पहले से तूफान और बारिश की आशंका जताई जा रही थी। बुधवार दोपहर बारिश के बाद केंद्र का नजारा तालाब जैसा रहा। गोदाम के बजाए बाहर गेहूं का भंडारण किए जाने से हजारों क्विंटल गेहूं भीग गया। खराब हुआ।

लापरवाही छिपाने एक दूसरे पर मढ़ रहे आरोप
- पोड़ी खरीदी केंद्र प्रभारी पूरन लाल बर्मन और बचैया खरीदी केंद्र प्रभारी अशोक तिवारी कह रहे हैं कि खरीदी के बाद वेयर हाउस संचालक ने गेहूं का उठाव नहीं किया। बाहर ही स्टेक लगाने कहा।
- रूपनाथ वेयर हाउस के मैनेजर अशोक बागची ने बताया कि सर्वेयर ने सूखने तक गेहूं का बाहर स्टेक लगाने कहा था। बुधवार को ज्यादा बारिश से गेहूं भीग गई।

कटनी में ज्यादातर स्थानों पर अनाज भीगा, जिम्मेदार बने रहे बेपरवाह
- मझगवां ओपन कैप में धान का भंडारण किया गया है। यहां तूफान में पॉलिथिन उड़ जाने के बाद बारिश में कई क्विंटल धान भीग गई।
- कृषि उपज मंडी के पीछे भी ओपन कैप में धान का भंडारण किया गया है। यहां भी अनाज बारिश की भेंट चढ़ गई।

23 मई तक खरीदी बंद
तूफान और बारिश की आशंका के बीच जिलेभर में 23 मई तक खरीदी बंद कर दी गई है। जिला आपूर्ति अधिकारी पीके श्रीवास्तव ने बताया कि अब किसानों से गेहूं खरीदी 24 मई से प्रारंभ होगी। जिन किसानों को एसएमएस की अवधि समाप्त होगी, उन्हे दोबारा एसएमएस भेजा जाएगा। खरीदी की तारीख 25 मई से आगे बढ़ाई जा सकती है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned