आबकारी अधिकारी का दो उपनिरीक्षकों के प्रति अनूठा स्नेह

ट्रांसफर के आठ माह बाद भी नहीं किया रिलीव, कटनी से शहडोल और नरसिंहपुर के लिए ट्रांसफर आदेश जुलाई में हुआ था जारी.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 18 Feb 2020, 08:59 AM IST

कटनी. आबकारी विभाग में प्रदेश सरकार के ट्रांसफर आदेश को आठ माह से दबाए रखने का मामला सामने आया है। आबकारी अधिकारी पीएल राकेश ने दो उपनिरीक्षकों को ट्रांसफर के बाद रिलीव करने के बजाए आबकारी आयुक्त के आदेश का पालन नहीं करना बेहतर समझा। आबकारी आयुक्त के आदेश में पांच जुलाई को आबकारी उपनिरीक्षक सतीश का ट्रांसफर नरसिंहपुर और रजनीश त्रिपाठी का ट्रांसफर पन्ना से बदलकर शहडोल किया गया।

दोनों उपनिरीक्षकों को ट्रांसफर के बाद जुलाई माह में ही रिलीव करना था,लेकिन आबकारी अधिकारी ने सरकार के आला अधिकारियों के निर्देश की परवाह नहीं की, बल्कि कटनी में सर्किल के अनुपात में कर्मचारियों की संख्या कम होने का हवाला देकर राज्य सरकार को ही रिपोर्ट भेज दिया।

दो उपनिरीक्षकों के ट्रांसफर के बाद उन्हे ट्रांसफर रुकवाने का पूरा मौका दिया गया। माना जा रहा है कि इसके लिए अधिकारियों ने ट्रांसफर होने वाले कर्मचारियों का पूरा साथ दिया। इधर अब तक प्रदेश सरकार के परिवर्तित ट्रांसफर आदेश जारी नहीं होने के बाद अब स्टॉफ में कमीं की बात कहकर रोका जा रहा है।

कटनी में आबकारी अधिकारी के अधीन आठ सर्किल हैं। वर्तमान में आठों सर्किल में एक उपनिरीक्षक हैं। विभागीय सूत्रों का कहना है कि दो सर्किल के उपनिरीक्षकों को रिलीव करने के बाद उनका चार्ज अन्य दो उपनिरीक्षकों को देने से काम में ज्यादा अंतर नहीं आएगा।

आबकारी अधिकारी पीएल राकेश बताते हैं कि कटनी जिले में आठ सर्किल में आठ उपनिरीक्षक हैं। ट्रांसफर के बाद दो उपनिरीक्षकों को रिलीव करने से शेष बचे स्टॉफ में उपनिरिक्षकों को डबल चार्ज देना पड़ेगा इसलिए रिलीव नहीं किया।

raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned