लॉकडाउन में फंसे परिवारों को मिलेगा अनाज

बेघर, बेसहारा व्यक्तियों को उपलब्ध कराया जायेगा नि:शुल्क खाद्यान्न.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 30 Mar 2020, 11:07 PM IST

कटनी. कोरोना वायरस महामारी को रोकने हेतु लॉकडाउन अवधि में आवागमन के साधन बंद होने के बाद जो परिवार अपने निवास स्थान से अन्यत्र रुके हुये हैं और बेघर व बेसहारा हैं। उनके लिए अनाज की व्यवस्था नि:शुल्क की जाएगी। इसके लिए प्रत्येक ग्राम पंचायत को चार क्विंटल चावल का आबंटन अलग से किया गया है। इस कोटे में खाद्यान्न की व्यवस्था करने के निर्देश नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक को दिए गए हैं। यह खाद्यान्न द्वार प्रदाय योजना अन्तर्गत परिवहनकर्ता द्वारा उचित मूल्य दुकान तक पहुंचाया जायेगा।

कलेक्टर एसबी सिंह ने बताया कि यह खाद्यान्न नि:शुल्क प्रदाय किया जायेगा। खाद्यान्न का वितरण प्रति परिवार 5 किलोग्राम नि:शुल्क उचित मूल्य की दुकानों से वितरित किया जायेगा। खाद्यान्न वितरण हेतु वे परिवार पात्र होंगे जिनकी राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अन्तर्गत घोषित 25 श्रेणियों में से किसी भी श्रेणी में स्थानीय निकाय द्वारा पात्रता स्वीकृत की गई है, किन्तु किसी भी कारणवश उनकी पात्रता पर्ची जारी नहीं होने से पीडीएस के अन्तर्गत लाभान्वित नहीं हो पा रहे हैं।

लॉकडाउन के कारण अपने निवास स्थान से अन्यत्र रुके परिवार अथवा बेसहारा, बेघर व्यक्तियों को भी खाद्यान्न उपलब्ध कराया जायेगा, जिनके पास भोजन हेतु कोई साधन उपलब्ध नहीं हैं। ग्राम पंचायत के सचिव व रोजगार सहायक द्वारा पात्रता निर्धारित कर प्रति परिवार 5 किलोग्राम खाद्यान्न का कूपन उचित मूल्य दुकान हेतु जारी करने के निर्देश दिये गये हैं। तथा नगरीय क्षेत्र में संचालित उचित मूल्य दुकानों के लिये प्रति परिवार 5 किलोग्राम खाद्यान्न का कूपन संबंधित वार्ड प्रभारी या दरोगा द्वारा जारी किया जायेगा।

अनाज वितरण में गड़बड़ी नहीं हो इसके लिए रजिस्टर संधारित करने के निर्देश कलेक्टर द्वारा दिये गये हैं। उचित मूल्य दुकान के विक्रेताओं द्वारा पृथक स्टॉक का वितरण रजिस्टर संधारित करने व सतर्कता समिति के कम से कम तीन सदस्यों से सत्यापित कराना भी अनिवार्य किया गया है।

लॉकडाउन की अवधि में खाद्यान्न के स्वीकृत आवंटन से अधिक कूपन जारी नहीं करने एवं खाद्यान्न की कमी होने पर तत्काल आवंटन की मांग करने के निर्देश दिये हैं। उचित मूल्य दुकान से खाद्यान्न वितरण दुकानों के वर्तमान स्टॉक से अथवा इस योजना से प्राप्त स्टॉक से कूपनधारी व्यक्तियों को किया जा सकेगा। खाद्यान्न का उपयोग वास्तवित हितग्राहियों के भोजन हेतु किया जा रहा है, इसकी मॉनीटरिंग की जवाबदारी ग्राम पंचायत सचिव, रोजगार सहायक, वार्ड प्रभारी की होगी।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned