scriptFarmers entangled in the rules of e-KYC in government paddy purchase | सरकारी धान खरीदी में ई-केवाईसी के नियम में उलझे किसान | Patrika News

सरकारी धान खरीदी में ई-केवाईसी के नियम में उलझे किसान

आधार केंद्र में किसानों तीन दिन तक लगा रहे चक्कर, आधार नंबर से मोबाइल नंबर लिंक नहीं होने के चलते नहीं आ रहे एसएमएस

कटनी

Published: December 08, 2021 03:27:31 pm

कटनी. बहोरीबंद स्थित शासकीय आधार केंद्र और शासकीय महाविद्यालय में संचालित आधार केंद्र के बाहर यह भीड़ उन किसानों की है, जिनको सरकारी धान खरीदी केंद्र में समर्थन मूल्य पर धान बेचनी है। इन किसानों को अब तक धान बेचने के लिए एसएमएस प्राप्त नहीं हुआ। पता करने पर किसानों को बताया गया कि जिन किसानों का मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं है, उन्हे एसएमएस नहीं मिल रहे हैं।

paddy.png

इसके साथ ही एक बार फिर किसान उलझन में हैं। अब समस्या यह है कि किसान आधार केंद्र में दो से तीन दिन तक इंतजार के बाद मोबाइल नंबर अपडेट करवाएं या धान बिक्री के साथ ही रबी सीजन में गेंहू बोवनी की तैयारी करें।

Must See: ऊर्जा मंत्री ने दिग्विजय सिंह के पूर्वजों पर उठाए सवाल, पूछा बताएं गद्दार कौन

मैसेज नहीं तो धान तुलाई नहीं
किसान प्रेमलाल, रामविशाल, हरिलाल पटेल, गुलजार सिंह, हरीलाल, हीराप्रसाद यादव, रामकुमार, रामप्रकाश लोधी, रामकृपाल, रमेश सहित अन्य किसानों ने बताया कि मैसेज नहीं आने के कारण धान की तुलाई नहीं हो पा रही है।

ऐसे समझें किसानों की परेशानी
- 20 हजार से ज्यादा किसानों का जिलेभर में आधार नंबर से मोबाइल अपडेट नहीं होने की बात कह रहे विभागीय अधिकारी।
- 30 आधार केंद्र जिले में संचालित, एक केंद्र में एक दिन में 100 से ज्यादा अपडेटेशन की सुविधा।
- 10 नए आधार केंद्र खोलने के लिए आवेदन ई-गर्वनेंश विभाग में प्रक्रियाधीन।
- धान खरीदी प्रारंभ होने के बाद अब किसान आधार केंद्र में मोबाइल अपडेट करवाने परेशान होंगे तो समय पर धान बेच पाना मुश्किल होगा।

Must See: कोरोना की तीसरी लहर और लॉकडाउन के डर से व्यापारी ने खाया जहर!

नए प्रयोग ने बढ़ाई किसानों की परेशानी
प्रदेश सरकार ने किसानों का आधार नंबर मोबाइल से अपडेट करने की व्यवस्था समर्थन मूल्य पर अनाज खरीदी में बिचौलियों को अलग करने के लिए लागू की है। खासबात यह है कि इसके लिए समय रहते पूरी तैयारी नहीं की गई और किसानों को ही परेशान होना पड़ रहा है।

जिम्मेदारों के बोल
खाद्य विभाग के सहायक आपूर्ति अधिकारी केएस भदौरिया का कहना है कि नई व्यवस्था में उन्ही किसानों को मैसेज जा रहा है, जिनका मोबाइल नंबर आधार से लिंक है। केंद्र में किसानों की भीड़ पर ई-गर्वनेंश से चर्चा कर रहे हैं। वहीं ई-गर्वनेंश के सौरभ नामदेव का कहना है कि सभी केंद्रों में जल्द से जल्द मोबाइल नंबर अपडेट करने के निर्देश दिए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भाजपा की दर्जनभर सीटें पुत्र मोह-पत्नी मोह में फंसीं, पार्टी के बड़े नेताओं को सूझ नहीं रह कोई रास्ताविराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारभारतीय कार बाजार में इन फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी नई गाड़ी, सरकार ने लागू किए नए नियमUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावमौसम विभाग का इन 16 जिलों में घने कोहरे और 23 जिलों में शीतलहर का अलर्ट, जबरदस्त गलन से ठिठुरा यूपीBank Holidays in January: जनवरी में आने वाले 15 दिनों में 7 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखिए पूरी लिस्टUP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्य
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.