scriptFed up company harassment employee hanged himself and death | कंपनी की प्राड़ना से तंग आकर कर्मचारी ने लगाई फांसी, इलाज के दौरान मौत | Patrika News

कंपनी की प्राड़ना से तंग आकर कर्मचारी ने लगाई फांसी, इलाज के दौरान मौत

प्रताड़ना से तंग आकर एलएंडटी कंपनी कर्मचारी ने लगाई फांसी, इलाज के दौरान मौत। परिजन और कर्मचारियों ने लगाया कंपनी प्रबंधन पर प्रताड़ना का आरोप।

कटनी

Updated: November 17, 2021 09:37:17 pm

कटनी. शहर में फ्लाईओवर बना रही एलएंडटी कंपनी के एक कर्मचारी ने प्रताड़ना से तंग आकर मौत को गले लगा लिया है। कर्मचारी द्वारा उठाए गए इस आत्मघाती कदम से अन्य कर्मचारी सकते में आ गए हैं और जमकर कंपनी के खिलाफ प्रताड़ना का आरोप लगा रहे हैं। जानकारी के अनुसार, धीरेंद्र द्विवेदी पिता महेश उम्र 50 वर्ष निवासी सोनवर्षा जिला सीधी एलएंडटी प्लांट में बैचिंग प्लांट हेल्पर के पद पर कार्य कर रहा था। बताया जा रहा है कि रविवार को उसे अवकाश के दिन भी काम पर बुलाया गया। तबीयत खराब होने के कारण मना कर दिया। इस पर सुपरवाइजर अजीत सिंह ने कहा कि, अब सोमवार से ड्यूटी पर मत आना।

News
कंपनी की प्राड़ना से तंग आकर कर्मचारी ने लगाई फांसी, इलाज के दौरान मौत

जब धीरेंद्र सोमवार को ड्यूटी पर पहुंचा तो पंच मशीन में उसका फिंगर नहीं लिया, जिससे वह परेशान हो गया। उसने सुपरवाइजर अजीत सिंह से पूछा तो उसने कहा कि, तुम्हें काम से निकाल दिया गया है। इसपर उसे ऑफिस में ले जाकर के धमकी दी गई और कहा कि, अब दोबारा काम पर नहीं आना। परिजन का आरोप है कि, उसके साथ मारपीट भी की गई है।


मृतक के भाई रमेश कुमार द्विवेदी ने कहा कि, लगातार कंपनी में प्रताड़ित किया जा रहा है। इससे परेशान होकर के 15 नवंबर को भाई धीरेंद्र द्विवेदी ने चुनकाई मोहल्ला पड़रिया में फांसी लगा ली। इसपर साथी कर्मचारी अतुल पटेल ने जाकर देखा तो वो फांसी पर लटका मिला। एक अन्य कर्मचारी के साथ मिलकर उसे फांसी के फंदे से उतारा और तत्काल उपचार के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचे।

पढ़ें ये खास खबर- बाढ़ के बाद यहां निकल रहे हैं सांप, दूसरे इलाकों से बुलाना पड़ रहे स्नेक कैचर, काटने से 2 की मौत


यहां से हालत में सुधार होने ना होने पर उपचार के लिए निजी अस्पताल ले जाया गया, जहां बुधवार की सुबह कर्मचारी की मौत हो गई। कर्मचारी की मौत से साथी कर्मचारी व परिजम का आक्रोश भड़क उठा। कर्मचारी श्रीमान मिश्रा का आरोप है कि, कंपनी प्रबंधन लगातार कर्मचारियों से 12 से 14 घंटे काम लेती है। सप्ताह में कोई अवकाश नहीं मिलता। उन्हें पे स्लिप भी नहीं दी जाती। आवाज उठाने पर उन्हें कह दिया जाता है कि अगर आपको काम अच्छा नहीं लग रहा तो छोड़कर चले जाएं।


इस दौरान जब श्रीमान ने कंपनी प्रबंधन की मनमानी को उजागर किया तो मौके पर मौजूद मैनेजर आई आर एसके ठाकुर ने खुलेआम धमकी दी कि, दोबारा तुम्हें कंपनी में काम करना है ठीक बात नहीं होगी। कर्मचारियों की आरोप है कि, रेलवे और प्रशासन कंपनी प्रबंधन की मनमानी पर ध्यान नहीं दे रहा।


कंपनी मैनेजर बोले

आई आर एलएंडटी कंपनी के मैनेजर एसके ठाकुर का कहना है कि, धीरेंद्र द्विवेदी का मानसिक संतुलन ठीक नहीं था। उसने पंचिंग मशीन तोड़ दी थी। इसलिए उसे काम से निकाल दिया गया था। मारपीट आदि प्रताड़ना का आरोप निराधार है। अवकाश पर काम लेने की बात रही तो सरकार भी काम लेती है। हमें तय समय में प्रोजेक्ट पूरा करके देना है तो ओवरटाइम कर्मचारियों से काम तो लेंगे ही। रही बात वेतन की तो वेतन अकाउंट में दिया जाता है।

मजदूरों के लिए स्वास्थ मंत्री ने लगवाया स्पेशल वैक्सीनेशन सेंटर, देखें वीडियो

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.