इस जिले में नदी उफान पर, निचली बस्तियों घुसा पानी, मकानों को कराया खाली, देखें वीडियो

इस जिले में नदी उफान पर, निचली बस्तियों घुसा पानी, मकानों को कराया खाली, देखें वीडियो

Balmeek Pandey | Publish: Sep, 09 2018 03:50:03 PM (IST) | Updated: Sep, 09 2018 03:51:08 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

2 दिन हुई बारिश से शहर की निचली बस्तियों बाढ़ जैसे हालात, नगर निगम करा रही मुनादी, बाढ़ पीडि़तों को स्कूल व रैन बसेरा में ठहरने किया इंतजाम

कटनी. कटनी जिले में गुरुवार की देररात और शुक्रवार को दिनभर हुई झमाझम बारिश के बाद से भले ही बारिश का दौर थम गया है, लेकिन जीवनदायनी कटनी नदी उफान पर है। इसकी मुख्य वजह है नदी के ऊपरी सतह पर खेतों, पहाड़ों और नालों से एकत्रित होने वाला पानी। नदी के उफान पर होने से शहर की तीन निचली बस्तियों में बाढ़ की संभावना बन गई है। नदीपार स्थित हरिजन बस्ती, आदर्श कॉलोनी की निचली बस्ती और गिरजाघाट के समीप की बस्ती में पानी घुसने लगा है। आलम यह है कि नगर निगम को बस्ती खाली कराने की नौबत आ गई है। हरिजन बस्ती के 4 परिवारों को खाली कराया गया है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को सुरक्षित पहुंचाने किया जा रहा। झमाझम बारिश से कटनी नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ा है। नदी का जलस्तर बढऩे से 4 मकानों में घुसे पानी के बाद नगर निगम के चारों मकानों को खाली करा दिया है। अतिक्रमण दस्ता प्रभारी महेंद्र शर्मा ने बताया कि दो परिवार के लोग अपने रिश्तेदारी में चले गए हैं और दो परिवारों को धंती बाई स्कूल में ठहरने की व्यवस्था की गई है। हरिजन बस्ती के किनारे बसे लगभग 2 दर्जन से अधिक मकानों के पास पानी पहुंच गया है जिन घरों में पानी घुस चुका है उन्हें खाली कराया जा रहा है।

बना कंट्रोल रूम, स्कूलों में की व्यवस्था
लगातार हुई बारिश के बाद आयुक्त ने बाढ़ की समस्या से निपटने के लिए कंट्रोल रूम बनाया है। उसका टोली फ्री नंबर 1800230120 जारी किया गया है। बाढ़ से प्रभावित लोगों को ठहरने के लिए नगर निगम द्वारा स्कूल और रैन बसेरा में व्यवस्था की गई है। आजाद चौक स्थित धंती बाई स्कूल, बस स्टैंड का रैन बसेरा, सेठ गुलाबचन्द स्कूल, केसीएस स्कूल, मंगल नगर स्क्ूल में बाढ़ पीडि़तों को अस्थायी रूप से ठहराने की व्यवस्था की गई है। बाढ़ की समस्या से निबटने के लिए विशेष दल गठित किया गया है। 2-2 कर्मचारियों की 8 घंटे की ड्यूटी लगाई गई है जो निचली बस्तियों का हर समय दौरा कर रहे हैं। आयुक्त ने भी शुक्रवार की रात 3 बजे तक दौरा किया। लगातार अधिकारियों से अपडेट ले रहे हैं।

घोषित किए संवेदनशील क्षेत्र
मानसून के लगातार सक्रिय आयुक्त टीएस कुमरे ने बताया कि शहर के चार पांच ऐसे संवेदनशील घोषित किए गए हैं, जहां पर नदी पानी प्रवेश करता है। इसमें नदीपार की हरिजन बस्ती, आदर्श कॉलोनी की निचली बस्ती, गिरजा घाट की निचली बस्ती, सावरकर वार्ड की निवली बस्ती सहित गायत्री नगर, मिशन चौक पुलिया, मंगल नगर पुलिया, बाबा घाट पुलिया को संवेदनशील क्षेत्र माना है। यहां पर विशेष निगरानी करने निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही मुनादी कराकर लोगों को सतर्क रहने लगातार हिदायत दी जा रही है।

बारिश को लेकर खास
- गाटर घाट, मसुरहा, मोहन घाट को रस्से से कवर्ड कराया गया है।
- मोहन घाट में खतरे के निशा से ऊपर बह रही कटनी नदी।
- आयुक्त के भ्रमण पर नहीं मिले अधिकारी, जताई नाराजगी।
- कर्मचारियों को ड्यूटी स्थल पर रहने दिए सख्त निर्देश।

 

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned