scriptForest Department did not give wages | VIDEO: वन विभाग ने 12 दिन तक खुदवाए गड्ढे, कराया काम, नहीं दी मजदूरी, कलेक्ट्रेट में डाला डेरा | Patrika News

VIDEO: वन विभाग ने 12 दिन तक खुदवाए गड्ढे, कराया काम, नहीं दी मजदूरी, कलेक्ट्रेट में डाला डेरा

41 मजदूरों जन बच्चों सहित पहुंचे कलेक्टर के पास, सुनाई समस्या, आक्रोशित श्रमिकों ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कटनी

Published: January 12, 2022 09:23:13 pm

कटनी. जिला कलेक्ट्रेट में मंगलवार को उस समय हड़कंप मच गया जब दर्जनों श्रमिक अपना डेरा लेकर बच्चों सहित पहुंचे और उन्होंने कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपते हुए अपनी मजदूरी भुगतान मिलने तक यहीं पर डेरा जमा लिया है। श्रमिक गजेंद्र सिंह पिता परशुराम, केदार सिंह, राजरानी जसोदा मजदूर यूनियन संघ के माध्यम से जनसुनवाई में शिकायत करते हुए बताया कि वन परिक्षेत्र बहोरीबंद की बाकल चौकी अंतर्गत ग्राम मसंधा में बीते वर्ष 9 दिसंबर से 12 दिनों तक मजदूरी की मजदूरी का निर्धारण वन चौकी प्रभारी मुकेन्द्र सिंह गौड़ ने 250 रुपये प्रति दिवस के मान से मजदूरी तय करने के बाद हर श्रमिक से 45 गड्ढे खुदवाए। जिसका कुल भुगतान 1 लाख 23 हजार बनता है। श्रमिकों ने 9010 गड्ढे खोदे।
मजदूरों ने कहा कि जब मजदूरी मांगी तो नाकेदार और चौकीदार के द्वारा अभद्रता की गई। जान से मारने की धमकी भी दी गई। श्रमिकों ने खुद के साथ हुए अन्याय को लेकर जिला प्रशासन से गुहार लगाते हुए मजदूरी का भुगतान करा उक्त वन कर्मियों के विरुद्ध कठोर कार्यवाही की मांग की है। उल्लेखनीय है कि सभी 41 मजदूर अपने बच्चों सहित शहडोल से वन विभाग के बुलावे पर कटनी आए थे और बाकल वन परीक्षेत्र अंतर्गत मसन्धा में मजदूरी की थी।

वन विभाग ने 12 दिन तक खुदवाए गड्ढे, कराया काम, नहीं दी मजदूरी, कलेक्ट्रेट में डाला डेरा
वन विभाग ने 12 दिन तक खुदवाए गड्ढे, कराया काम, नहीं दी मजदूरी, कलेक्ट्रेट में डाला डेरा

इन मजदूरों ने किया है काम
बता दें कि वन विभाग में प्रीतम, मधु, पूजा, विजय, शंकर, दिवाकर, दीनदयाल, बुदिया, उमा, रामरतन, अनीता, सुनीता, विशाखा, राज, कालू, अर्चना, राज बाई, भारतलाल, सुबीया, रानी, पिंटू, नेहा बाई, हरीलाल, राजा, राजभान, सविता, सखालाल, उर्मिला, छोटी बाई, कंधी, मानू, शंकर, भोला, गजेंद्र, केदार, राजरानी, राजकुमार, जेठा, प्रेमलाल, यशोदा आदि ने मजदूरी की है, लेकिन अब इन्हें मजदूरी के लिए भटकाया जा रहा है।

इनका कहना है
विभाग द्वारा मंगलवार को मजदूरों को भुगतान किया जाना था। इसकी तैयारी भी हो गई थी, लेकिन पता नहीं ये सुबह कलेक्टर के पास शिकायत करने पहुंच गए। हमको यह नहीं मालूम था कि ये शिकायत कर देंगे।
कालीचरण गड़ारी, डिप्टी रेंजर बाकल।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

SSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजएसईसीएल ने प्रभावित गांवों को मूलभूत सुविधा देना किया बंद, कोल डस्ट मिले पानी से बर्बाद हो रहे हैं खेततीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षणInd vs SA: चेतेश्वर पुजारा कर बैठे बड़ी भूल, कीगन पीटरसन को दिया जीवनदान; हुए ट्रोल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.