चार साथियों ने मिलकर चोरी की वारदात को दिया था अंजाम

-गांधी द्वार में एक ही रात 7 दुकानों में हुई चोरी का पांच दिन के भीतर कोतवाली पुलिस ने किया खुलासा, सामग्री भी बरामत

 

By: dharmendra pandey

Published: 18 Feb 2020, 08:00 AM IST

कटनी. कोतवाली थाना से चंद कदम दूरी पर गांधी द्वार में 13 फरवरी को 7 अलग -अलग दुकानों में हुई चोरी को सोमवार को खुलासा कर दिया है। वारदात में शामिल चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इसमें एक आरोपी नाबालिग है। दुकान का ताला तोडऩे में उपयोग की गई लोहे की राड और मसरूका को भी जब्त कर लिया है। नगदी राशि नहीं मिल पाई है। उसे आरोपियों ने खर्च कर दिया था।
यह है मामला-
उल्लेखनीय है कि कोतवाली के नजदीक ही गांधीद्वार में खानपान व ऑनलाइन की दुकानें हैं। 12 फरवरी यानि बुधवार रात व्यापारी काम खत्म कर दुकान बंद कर अपने घर चले गए थे। गुरुवार सुबह जब दुकान खोलने पहुंचे तो दुकानों के ताले टूटे मिले और काउंटरों में रखे पैसे व सामग्री गायब थी। जिसकी सूचना पुलिस को दी गई। दुकानदारों ने बताया था कि ऑनलाइन सेंटर संचालक हेमंत पटेल की दुकान से 7 हजार, श्रष्टि जैन की दुकान से 10 हजार, मनीष जैन की दुकान से 25 हजार, आशीष जैन के 3 हजार, कमल वर्मा के 1 हजार और प्रदीप की दुकान से 12 सौ रुपये व सामग्री चोरों ने पार कर दी थी। कोतवाली टीआइ विजय विश्वकर्मा ने बताया कि इसके बाद पुलिस ने प्रकरण दर्जकर मामले की जांच शुरू की। टीम गठित की गई। संदेह के आधार पर पुलिस ने आरोपी संदीप उर्फ बोतल (19) निवासी आधारकाप, सौरभ पटेल (26) निवासी सिविल लाइन, रोहित दुआ (27) निवासी सूरी गली सिविल लाइन और एक नाबालिग को पकड़कर पूछताछ की गई। आरोपियों ने वारदात को अंजाम देना कबूल किया। दल में उपनिरीक्षक नितिन कमल, एमएल चौधरी, सहायक उपनिरीक्षक विनोद सिंह, प्रधान आरक्षक वैजंती टेकाम, बहादुर सिंह, राजेश बागरी, नितिन जायसवाल, शशिंकात करौसिया, दीपक तिवारी, सुभाष, गौरी शंकर, गणेश दत्त और श्रवण मिश्रा सहित बड़ी संख्या में कोतवाली पुलिस का अमला मौजूद रहा।

dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned