बेंगलुरु में बंधक युवक घर पहुंचकर माता-पिता से लिपट गया

कुठला पुलिस ने मुक्त कराकर सुरक्षित घर पहुंचाया, बीएसपी कंपनी में काम कर रहा था राजकुमार

By: Hitendra Sharma

Published: 13 Sep 2021, 10:09 AM IST

कटनी. कटनी पुलिस द्वारा इन दिनों लापता होने वाले बच्चों, किशोरों एवं युवतियों की खूब दस्तयाबी की जा रही है। इतना ही नहीं अन्य राज्यों में बंधक मजदूरों को भी मुक्त कराने के लिए सार्थक पहल की जा रही है। एक बार फिर कुठला पुलिस ने सकारात्मक पहल करते हुए मदनपुरा गांव के बंधक युवक को मुक्त कराते हुए सुरक्षित घर पहुंचाया है। इस पूरी प्रक्रिया में कुठला थाना में पदस्थ सहायक उपनिरीक्षक विजेंद्र तिवारी की सक्रिय भूमिका रही।

पुलिस के अनुसार मदनपुर का बिछडा लडका जो बैगलोर काम कि तलाश मे गया था, जिसे वापस नहीं आने दिया जा रहा था। कुठला थाना प्रभारी विपिन सिंह को सूचना मिलने पर पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार जैन के दिये आदेश निदेश के पालन मे एएसआई विजेंद्र तिवारी, गौरव सेन ने रामकुमार पटेल कि तत्काल मददकर बैगलौर पुलिस से बातचीत कर रामकुमार की कंपनी की मोबाइल लोकेशन देकर फंसे मजदूर को बंगलौर से मुक्त कर रेल टिकट कि व्यवस्था तिवारी द्वारा करवा कर कटनी बुलाया।

Must see: सूदखोरों के ठिकानों पर छापा 115 पासबुक और 147 ब्लैंक चेक मिले

रामकुमार को उनके घर तक कुठला पुलिस ने पहुंचाया। और पूरे गांव वालो ने कटनी पुलिस के इस कार्य कि प्रशंसा की है। बता दे कि राजकुमार पिता मिट्ठू लाल पटेल उम्र 24 साल निवासी मदनपुरा काम की तलाश में बेंगलुरु कृष्ण पुरम में बीएसपी कंपनी में काम कर रहा था। तबीयत खराब होने पर उसे मजदूरों की कमी होने के कारण अवकाश नहीं दिया जा रहा था जो अपने पिताजी के स्वास्थ्य की खबर सुनकर घर आना चाह रहा था।

Must See: कोरोना वैक्सीन लगवाने की कहने पर कर दी मारपीट

बेंगलुरु पुलिस से कुर्ला पुलिस थाना प्रभारी विपिन सिंह, एएसआई विजेंद्र तिवारी ने संपर्क कर राजकुमार को उस कंपनी से तत्काल रेलवे स्टेशन छुड़वाया गया एवं रेलवे स्टेशन से बेंगलुरु से कटनी तक का आने जाने की रेल टिकट की व्यवस्था कुठला पुलिस द्वारा कराई गई एवं एक गरीब परिवार को उस के बिछड़े हुए बेट से मिलवाने के लिए प्रयास किया। पुलिस के द्वारा किए गए प्रयास के बाद पूरे इलाके में लोग पुलिस की प्रशंसा कर रहे हैं।

Must See: 2500 रुपए के लिए सरेराह व्यापारी के बेटों का अपहरण

Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned