राष्ट्रीय प्रोग्राम कैसे आमजनों के लिए बन रहा परेशानी का सबब, देखिए वीडियो

देशव्यापी प्रोग्राम में छोटी-छोटी गलतियां लोगों को घंटो कतार में खड़े रहने कर रहा विवश

By: raghavendra chaturvedi

Published: 05 Jan 2019, 10:04 AM IST

कटनी. कोई देशव्यापी राष्ट्रीय प्रोग्राम कैसे आमजनों के लिए परेशानी खड़ा कर रहा है कि इसका नजारा आधार पंजीयन केंद्रों में देखा जा सकता है। यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथारिटी ऑफ इंडिया (यूआइडीएआइ) के आधार कार्ड में जन्मतिथी जैसी छोटी-छोटी गलतियां कई परिवारों को सुबह से लेकर शाम तक आधार पंजीयन की खिड़की के सामने खड़े करने पर विवश कर रहा है।
शुक्रवार सुबह कटनी कलेक्ट्रेट परिसर स्थित मुख्य द्वार के सामने आधार पंजीयन खिड़की के बाहर कतार में खड़े बहोरीबंद ब्लाक के सुपेली गांव से आए महिपाल ने बताया कि बच्चे की शादी का पैसा बैंक से नहीं निकल रहा है तो खरखरी नंबर 2 के अजय यादव ने बताया कि प्राइवेट जॉब में वेतन आधार के कारण फंस गया। कूडऩ के गुड्डा कोल ने पीएम आवास की दूसरी किस्त नहीं मिलने की परेशानी बताई तो तईगवा से आईं उमेद बाई ने बताया कि बेटे की छात्रवृत्ति की राशि रुक गई है। इन सबकी एक ही परेशानी है आधार पंजीयन के दौरान जन्मतारीख का गलत भरा जाना।
कुछ साल या महीने पहले आधार पंजीयन के दौरान निजी ऑपरेटरों के कर्मचारियों ने जन्मतारीख मनमाना भर दिया। अब आधार पंजीयन कार्ड में जन्म तारीख दूसरे दस्तावेजों से मेल नहीं खा रहा है और बैंक से लेकर दूसरे विभाग में आमजनों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जानकर ताज्जुब होगा कि इस तरह की समस्या लेकर जिलेभर में 13 आधार पंजीयन केंद्र में दो सौ से ज्यादा लोग प्रतिदिन पहुंच रहे हैं। पूरे जिले में ऐसे लोगों की संख्या हजारों में है।
आधार पंजीयन के दौरान गलत जन्म तारीख होने की बात कटनी कलेक्टर केवीएस चौधरी भी स्वीकार करते हैं। उनका यह भी कहना है कि अब तो सुप्रीम कोर्ट ने बैंक में आधार की अनिवार्यता जरुरी नहीं माना है। ऐसे में बैंकों को राशि नहीं रोकनी चाहिए। वे इस संबंध में बैंक अधिकारियों से बात करने की बात भी कहते हैं।
बड़ी बात यह है कि आमजनों की इस परेशानी को कम करने कें इ-गर्वनेंश विभाग बेपरवाह है। आधार पंजीयन कक्ष के बाहर जन्म तारीख सुधरवाने के लिए परेशान लोगों ने बताया कि यहां एक साल से ज्यादा समय से लोग जन्म तारीख गलत होने के बाद उसे सुधरवाने आ रहे हैं। इस समस्या की जानकारी इ-गर्वनेंश विभाग के अधिकारियों को होने के बाद भी समस्या के त्वरित समाधान का प्रयास नहीं किया जा रहा है। विभाग की बेपरवाही हजारों लोगों के लिए परेशानी का सबब बना हुआ है। इ-गर्वनेंश विभाग कटनी के प्रमुख सौरभ नामदेव कहते हैं कि जिलेभर में 13 से ज्यादा पंजीयन केंद्र हैं। यह बात सही है कि इन पंजीयन केंद्र में जन्म तारीख सुधरवाने के लिए लोग आ रहे हैं। यह समस्या पूर्व में पंजीयन के दौरान ऑपरेटरों की गलती के कारण सामने आ रही है। प्रतिदिन कितने आवेदक यह समस्या लेकर आ रहे हैं इसकी जानकारी नहीं होने की बात भी वे कह रहे हैं।

Patrika
Show More
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned