scriptIllegal construction in Katni city | स्कूल के सामने अनुमति के विपरीत तन रहा शॉपिंग काम्पलेक्स, कलेक्टर ऑफिस के सामने बन गई इमारत | Patrika News

स्कूल के सामने अनुमति के विपरीत तन रहा शॉपिंग काम्पलेक्स, कलेक्टर ऑफिस के सामने बन गई इमारत

अवैध निर्माण व अनुमति के विपरीत निर्माण पर चल रहा सिर्फ नोटिस का खेल, कार्रवाई बिना मामले रफादफा
घरेलू मानचित्र में व्यवसायिक निर्माण, बगैर मानचित्र व सक्षम स्वीकृति के निर्माण से नगर निगम को करोड़ों रुपये के राजस्व की क्षति

कटनी

Updated: May 17, 2022 09:42:29 pm

कटनी. नगर निगम में कर्मचारियों से लेकर अफसरों की मनमानी को रोकने वाला कोई नहीं है। नगर निगम के अफसरों की कारगुजारी से नगर निगम को करोड़ों रुपये के राजस्व की चपत तो लग ही रही है साथ ही अवैध व मनमाने निर्माण से शहर की जनता भी त्रस्त है। नगर निगम के एकाध, 50-100 नहीं बल्कि एक हजार से अधिक अवैध निर्माण के मामले हैं, जिनपर नगर निगम के भवन अनुज्ञा शाखा के कार्यपालन यंत्री, नोडल अधिकारी, अतिक्रमण अधिकारी, आयुक्त सहित अन्य जिम्मेदार अनजान बने हैं। हैरानी की बात तो यह है कि नगर निगम ने अवैध निर्माण की सूचना पर नोटिस की कार्रवाई की।
हाल में गुरुनानक वार्ड में पुत्री शाला के सामने अनुमति के विपरीत शॉपिंग काम्पलैक्स का निर्माण हुआ है। 10 फीट सामने पार्किंग आदि के लिए जगह छोडऩी थी, जो नहीं छोड़ी गई। इस पर नगर निगम ने नोटिस जारी किया है। यह नोटिस प्रकाश भाटीजा, हितेश चांदवानी, विष्णु वाधवानी, गौरव भाटीजा को जारी किया गया है। बताया जा रहा है कि अलग-अलग मानचित्र पर एक ही काम्पलैक्स तैयार हो रहा है। अब देखने वाली बात होगी कि नगर निगम नोटिस के बाद कार्रवाई की हिम्मत जुटा पाता है कि नहीं।

स्कूल के सामने अनुमति के विपरीत तन रहा शॉपिंग काम्पलेक्स, कलेक्टर ऑफिस के सामने बन गई इमारत
स्कूल के सामने अनुमति के विपरीत तन रहा शॉपिंग काम्पलेक्स, कलेक्टर ऑफिस के सामने बन गई इमारत

यहां तो बिना अनुमति निर्माण
कलेक्टर ऑफिस के ठीक सामने नगर निगम द्वारा जहां पर शॉपिंग काम्पलैक्स का निर्माण कराया जाना है, वहां पर जगदीश पटेल के द्वारा बिना अनुमति के तीन मंजिला इमारत बना ली गई है। इस पर भी नगर निगम द्वारा नोटिस जारी कि गया है। इस अवैध निर्माण को हटाने के लिए जारी नोटिस के बाद मामले को दबाने की कवायद भी खूब चल रही है। 2017 से लेकर 2019 तक 922 नोटिस मामलों में मिशन चौक से लेकर चांडक चौक के अतिक्रमण के नोटिस को छोड़ दिया जाए तो किसी में भी कोई प्रभावी कार्रवाई नहीं हुई।

यहां भी नहीं हुई कार्रवाई
रघुनाथ गंज वार्ड में ज्वाला चक्की के समीप गीता देवी चमडिय़ां के द्वारा अनुमति के विपरीत निर्माण किया गया है। कई माह तक शिकायत होती रही, लेकिन नगर निगम के अधिकारी कार्रवाई का साहस नहीं जुटा पाए। शिकायत के बाद 10 जनवरी को नगर निगम के कार्यपालन यंत्री राकेश शर्मा द्वारा 14 जनवरी को गीता देवी चमडिय़ा द्वारा किए गए अनुमति के विपरीत निर्माण को हटाने नोटिस जारी किया गया, कार्रवाई के लिए कोतवाली थाना प्रभारी को पत्र लिखकर बल मुहैया कराने मांग की गई, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई।

थोक के भाव जारी हुए नोटिस
आपको जानकार ताज्जबु हो कि हाल के 4 सालों में अनुमति के विपरीत निर्माण, अवैध निर्माण में 934 लोगों को नोटिस जारी किए गए हैं, लेकिन आधा सैकड़ा लोगों पर भी कार्रवाई नहीं की गई। सिर्फ नोटिस देकर खेल किया गया है। वहीं अब कम्पाउंडिंग के नाम पर खूब मनमानी चल रही है। शहर के 45 वार्ड में अनुमति के विपरीत कई निर्माण चल रहे हैं, जिससे देखने वाला कोई नहीं है। इसकी मुख्य वजह है कि किसी भी अधिकारी-कर्मचारी की तवाबदेही तय नहीं हो रही है।

ऐसे हो रही मनमानी
- पुराने पशु चिकित्सालय के पास नियमों को ताक में रखकर तन गई बिल्डिंग।
- सुभाष चौक में बिना अनुमति के तैयार हुआ बेसमेंट।
- वेंकटेश मंदिर के पास कई बिना अनुमति के हुए निर्माण।
- दुगाड़ी नाला के समीप भी बिना अनुमति के हुए निर्माण।
बरगवां में अनुमति के व बिना अनुमति के निर्माण पर नहीं हुई कार्रवाई।
- गल्र्स कॉलेज के सामने घरेलू मानचित्र पर बनीं दुकानें।
- नगर निगम के अफसरों की सांठगांठ से चल रहा बड़ा खेल।
- सेल्फी प्वाइंट के सामने भी बगैर अनुमति के निर्माण।

इंजीनियर, अधिकारी व आयुक्त पर सवाल
अवैध निर्माण कर सरकार को राजस्व की क्षति पहुंचाने व मानकों को ताक में रखकर भवन बनाने वालों पर कृपा बनाए रखना अपने आप में एक बड़ा सवाल है। सूत्रों की मानें तो नगर निगम के अफसर अवैध निर्माण स्थल पर दबाव बनाने भी पहुंचे, बकायदा कार्रवाई करने का नोटिस दिया और फिर मामले को रफादफा कर दिया। इस मनमानी पर नगरीय प्रशासन विभाग सहित जिम्मेदार बेखबर हैं। ऐसे में अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े होना लाजमी हैं।

इनका कहना है
अवैध निर्माण व अनुमति के विपरीत निर्माण पर नोटिस जारी किए गए हैं। शीघ्र ही मनमानी करने वालों के खिलाफ ठोस कार्रवाई की जाएगी। नियमों को ताक में रखकर इस तरह का दुस्साहस बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। वार्ड के इंजीनियर्स, टाइमकीपर भी कार्रवाई सुनिश्चित करेंगे।
सत्येंद्र सिंह धाकरे, आयुक्त नगर निगम।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Britain के पीएम बोरिस जॉनसन ने दिया इस्तीफा, जानें वो 'एक फैसला' जिससे गई कुर्सीMaharashtra Politics: उद्धव ठाकरे को फिर लगा तगड़ा झटका, अब ठाणे नगर निगम के 67 में से 66 पार्षद शिंदे खेमे में हुए शामिलदो समुदायों के झगड़े के बाद फैली अफवाह, करौली में एक घंटे रहा दहशत का माहौलBhagwant Mann Marriage Live Updates: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को अरविंद केजरीवाल ने दी बधाईपीएम मोदी पहुंचे काशी, बिताएंगे चार घंटे, देंगे 1774 करोड़ की सौगात, सुरक्षा में लगे 10 हजार जवानED के एक्शन से घबराए Vivo निदेशक देश छोड़कर भागे, जांच से तिलमिलाया चीनआजम खान का अजीबोगरीब बयान, ईडी बुलाए या सीडी, जाएंगे पर कुछ नहीं बताएंगेKaali Poster Controversy: फिल्म मेकर लीना ने छेड़ा नया विवाद, अब 'शिव-पार्वती' को सिगरेट पीते दिखाया
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.