26 जनवरी को आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक-176 में बच्चों के लिए अफसरों ने भिजवाई ऐसी मिठाई की मच गया हड़कंप

-कार्यकर्ता ने की शिकायत तो परियोजनाधिकारी ने कहा कि हमने भी खाए हैं लड्डू, 230 में से सिर्फ 1 केंद्र में ही मिला कीड़ा ऐसे कैसे हो सकता है शहरी क्षेत्र की आंगनबाड़ी केंद्र का मामला

 

By: dharmendra pandey

Updated: 29 Jan 2020, 11:14 AM IST

कटनी. संविधान दिवस पर शहरी क्षेत्र की आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक-176 में बंटने आए लड्डू में कीड़े निकले। केंद्र में ये लड्डू 25 जनवरी को समूह के माध्यम से भिजवाए गए थे। जिसकी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ने अपने विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दी। लड्डू को वापस कराया गया। पंचनामा बनाया और 26 जनवरी को केंद्र में बिस्किट का वितरण कराया। इधर, मामले को लेकर शहरी क्षेत्र की परियोजना अधिकारी का कहना है कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ता झूठ बोल रही है। उससे जब कीड़े युक्त लड्डू मांगे गए तो वह दिखा नहीं पाई। हमने भी वहीं लड्डू खाए हैं। शहरी क्षेत्र की 230 आंगनबाड़ी केंद्रों में से एक म ेंही कीड़ा कैसे मिल सकता है।
जानकारी के मुताबिक आंगनबाड़ी केंद्रों में दर्ज बच्चों को गणतंत्र दिवस पर विशेष भोजन का वितरण किया जाता है। इसके लिए संविधान दिवस के एक दिन पहले यानि 25 जनवरी को महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों द्वारा मध्यान्ह भोजन बनाने वाले समूह के माध्यम से लड्डू का वितरण कराया गया। शहरी क्षेत्र की आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक-176 में 25 बच्चों के लिए लड्डू भिजवाए गए। कार्यकर्ता ने पैकेट खोलकर देखा तो कुछ लड्डू में मरे हुए कीड़े मिले। जिसके बारे में कार्यकर्ता ने सुपरवाइजर और परियोजना अधिकारी को जानकारी दी। इसके बाद परियोजना अधिकारी ने समस्त आंगनबाड़ी केंद्रों की कार्यकर्ताओं को चेककर बांटने को कहा।

-जानकारी मिलने पर सभी को देखकर बांटने को कहा गया था। हमने भी उसी लड्डू को खाया है। जिन लड्डूओं में कीड़े होने की बात आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा बताई जा रही है। उसे दिखाने को कहा तो उसके द्वारा कहा गया कि गाय को खिला दिया गया है। इसके अलावा उस केंद्र में लड्डू की जगह बिस्किट बंटवाएं गए हैं।
मीना बड़कुल, परियोजना अधिकारी, शहरी क्षेत्र।

-लड्डू की कीड़ेे होने की जानकारी मैंने समय ही सुपरवाइजर को दी थी। गु्रप में भी फोटो डाली थी। परियोजना अधिकारी को भी मैसेज किया था, लेकिन उनके द्वारा यह नहीं बताया गया कि लड्डू को रखना है। छोटे-छोटे बच्चे खा न ले इसलिए उसे गाय को खिला दिया था।
आरती निषाद, आंगनबाड़ी कार्यक्रर्ता केंद्र क्रमांक-176।

-लड्डू में कीड़े होने की जानकारी मिली थी। जांच कराई गई। कार्यकर्ता के पास से 4 किलो लड्डू के पैकेट में सिर्फ दो किलो ही मिले है। कीड़ा किसी भी लड्डू में नहीं मिला। कार्यकर्ता द्वारा समूह पर अनावश्यक दबाव बनाने के लिए ऐसा किया गया है। कार्रवाई की जा रही है।
नयन सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी।

dharmendra pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned