scriptInterstate bus stand will not be built in Katni | घोषणा तक सीमित रह गया अंतर्राज्जीय बस स्टैंड, जमीन आवंटन के छह साल बाद भी नहीं शुरू हुई निर्माण की प्रक्रिया | Patrika News

घोषणा तक सीमित रह गया अंतर्राज्जीय बस स्टैंड, जमीन आवंटन के छह साल बाद भी नहीं शुरू हुई निर्माण की प्रक्रिया

शहर से 180 अधिक बसों का हर दिन होता है संचालन, खड़े होने को भी नहीं है पर्याप्त जगह, 2017 में शुरू हो गई थी बस स्टैंड निर्माण की प्रक्रिया

कटनी

Published: June 13, 2022 09:53:34 pm

कटनी. शहर में विकास कार्यों को लेकर घोषणाएं तो खूब होती है, लेकिन समय पर उनमें अमल न होने से शहर की जनता उसका खामियाजा भुगतती है। उन्हीं में से एक है अतर्राज्जीय बस स्टैंड की घोषणा। जानकर ताज्जुब होगा कि अंर्राज्यीय बसस्टैंड निर्माण के लिए अप्रैल 2017 में कलेक्टर द्वारा 15 एकड़ जमीन परिवहन विभाग को आवंटित की गई है। ट्रांसपोर्ट नगर के आगे कुठला में जमीन का आवंटन हो गया है, लेकिन अबतक कोई प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई।
जानकारी के अनुसार परिवहन विभाग की पहल पर 15 एकड़ जमीन का आवंटन ट्रांसपोर्ट नगर के समीप हुआ है। रिकार्ड में परिवहन विभाग के अधीन भी हो गई है, लेकिन बस स्टैंड का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया। शहर के प्रियदर्शनी बस स्टैंड से जबलपुर, सतना, रीवा, मैहर, पन्ना सहित अन्य जिलों के लिए हर दिन लगभग 200 बसें संचालित होती हैं, शहर के भीतर से बसों को गुजरने के कारण आवागमन बाधित होता है। आए दिन जाम की स्थिति बनती है। इससे बसों के अनावश्यक रुकने के कारण प्रदूषण बढ़ता है तो यात्रियों को भी परेशानी होती है। इसके बाद भी इस महत्वपूर्ण योजना पर न तो जनप्रतिनिधि और ना ही अफसर ध्यान दे रहे।

घोषणा तक सीमित रह गया अंतर्राज्जीय बस स्टैंड, जमीन आवंटन के छह साल बाद भी नहीं शुरू हुई निर्माण की प्रक्रिया
घोषणा तक सीमित रह गया अंतर्राज्जीय बस स्टैंड, जमीन आवंटन के छह साल बाद भी नहीं शुरू हुई निर्माण की प्रक्रिया

यात्रियों को होगी सहूलियत
जिले में अंतरराज्यीय बस स्टैंड का निर्माण होने से यात्रियों को भी सहूलियत मिलेगी। एक ही बस स्टैंड से आसानी से बसें मिल जाएगी। लगभग 15 एकड़ में बस स्टैंड बनने से बसों को खड़ा होने के लिए पर्याप्त जगह मिलेगी। वर्तमान बस स्टैंड में जगह की कमीं बनी हुई है। ऐसे में बसों को पेट्रोल पंपों या सड़कों पर खड़ा करना होता है। बाहर से आने वाले यात्रियों को भी सुविधा होगी।

यार्ड की भी है कमी
प्रियदर्शनी बस स्टैंड में बसों के खड़े होने के लिए पर्याप्त यार्ड नहीं बने हैं। यार्ड की कमीं होने के कारण परिसर के भीतर बस चालक मन माफिक बसों को खड़ा करते है। ऐसे में स्टैंड में जाम की स्थिति निर्मित होती है। आवागमन में यात्रियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। बस स्टैंड से बहोरीबंद, बड़वारा, विजयराघवगढ़, कैमोर, बरही, मैहर, जबलपुर, सिहोरा, रीवा, सतना सहित अन्य क्षेत्रों के लिए बसें संचालित होती हैं। इनमें से अधिकांश बसें ग्रामीण क्षेत्रों से चलती है। ये बसें यात्रियों को लेकर सुबह ही स्टैंड आ जाती हैं और दिनभर स्टैंड में खड़ी रहती हैं। इसके बाद शाम को रवाना होती हैं। ऐसे में जिन बसों का संचालन सुबह व दोपहर के बीच होता है, वे बसें यार्ड में खड़ी नहीं हो पातीं। उनकों बगैर यार्ड में खड़ा हुए ही यात्रियों को बिठाना पड़ता है।

बस स्टैंड के भीतर ही होता है काम व धुलाई
बसों में यदि कोई खराबी आ जाती है तो फिर बस स्टैंड के भीतर ही सुधार कार्य होता है। यहां तक कि कर्मचारी बसों की धुलाई यहीं करते हैें। ऐसे में गंदा पानी परिसर के भीतर बहता है। यात्रियों को उसी गंदे पानी के बीच से आवागमन करना पड़ता है। बस स्टैंड में साफ-सफाई बनी रहे, इसके लिए परिसर के भीतर बसों की धुलाई को लेकर रोक भी नहीं लगाई गई।

ऑटो भी मचाते है धमाचौकड़ी
जिले के प्रियदर्शनी बस स्टंैड में खड़े होने वाले ऑटों के लिए परिवहन अमला कोई नियम नहीं बना पाया। बसों के स्टैंड पर पहुुंचते ही पहले से खड़े ऑटो चालक उसके गेट के पास खड़े हो जाते हैं। यात्रियों को ऑटो में बैठने के लिए कहते है। गेट के पास खड़े हो जाने से लोगों को परेशानी होती है। ऑटो चालक व यात्रियों के बीच बातचीत होती है। नगर निगम हाल में बसों व ऑटो में टैक्स लगा चुकी है, लेकिन बेहतर व्यवस्था देने के नाम पर कुछ नहीं हो रहा।

घोषणा पर नहीं हो रहा काम
बस स्टैंड में न तो बसों के खड़े होने के लिए कोई व्यवस्था है और ना ही ठीक से यात्रियों के लिए प्रतिक्षालय है। यहां पर वेटिंग रूम की भी सुविधा नहीं है। पेयजल की भी व्यवस्था नहीं है। सफाई सफाई पर भी ध्यान नहीं दिया जाता। हर समय मवेशियों की धमाचौकड़ी से भी समस्या हो रही है। शहर हित में प्रशासन को शीघ्र ही अंतर्राज्जीय बस स्टैंड निर्माण कराया जाना चाहिए।
शुभप्रकाश मिश्रा, अध्यक्ष बस ऑपरेटर एसोसिएशन।

इनका कहना है
अंतर्राज्जीय बस स्टैंड सिर्फ घोषणा तक सीमित रह गया। जो है वहां व्यवस्थाओं की बेहद कमी है। बसों की टाइमिंग भी नहीं है। यहां पर कबाड़ बसें भी खड़ी रहती है। दुकानों के सामने खड़ी रहती हैं, जिससे व्यापार भी चौपट हो रहा है। जहां भी बस स्टैंड बने व्यवस्थित बने, ताकि यात्री, ऑपरेटर, व्यापारी शहरवासियों की समस्या हल हो सके। सुरक्षा व्यवस्था पर भी ध्यान देना होगा।
शेखर भारद्वाज, स्थानीय व्यापारी।

इनका कहना है
अंतर्राज्जीय बस स्टैंड निर्माण के लिए योजना बनी है। 15-16 एकड़ जमीन का आवंटन भी हो गया है। विभाग को पूर्व में पत्राचार हुए हैं, लेकिन अभी निर्माण संबंधी फाइनल निर्णय नहीं हुआ है। फाइल देखने के बाद ही आगे की प्रक्रिया शुरू हो पाएगी। वरिष्ठ अधिकारियों से भी इस संबंध में चर्चा कर आवश्यक पहल की जाएगी।
रमा दुबे, जिला परिवहन अधिकारी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

फिर गोलीबारी से दहला अमेरिका: फ्रीडम डे परेड में फायरिंग से 6 लोगों की मौत, 57 घायलPSEB Punjab Board 10th Result 2022 : पंजाब 10वीं बोर्ड का रिजल्ट आज होगा जारी, ऐसे करें चेकEknath Shinde Property: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से 12 गुना ज्यादा अमीर हैं शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, जानें किसके पास कितनी संपत्तिपश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के आवास में घुसने वाले शख्स ने परिसर को समझ लिया था कोलकाता पुलिस का मुख्यालयबीजेपी नेता कपिल मिश्रा को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल में लिखा - 'हम तुम्हें जीने नहीं देंगे'हैदराबाद के एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुंचे RCP सिंह तो BJP में शामिल होने की लगने लगी अटकलें, भाजपा ने कही ये बातप्रदेश के भोपाल, इंदौर समेत 11 नगर निगमों में मतदान 6 को, चुनावी शोर थमाकानपुर मेट्रो: टनल बनाने का काम शुरू, देश को समर्पित करने के विषय में मिली ये जानकारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.