जज बोले-पत्नी से अब विवाद मत करना, पति ने कहा-साहब गलती करेगी तो बोलूंगा जरूर

जज बोले-पत्नी से अब विवाद मत करना, पति ने कहा-साहब गलती करेगी तो बोलूंगा जरूर

dharmendra pandey | Publish: Sep, 09 2018 03:47:57 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

जिला एवं सत्र न्यायालय में हुआ नेशनल लोक अदालत का आयोजन

 

कटनी. जिला एवं सत्र न्यायालय में शनिवार को नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। सत्र न्यायाधीश अचल कुमार पालीवाल ने छोटे-छोटे विवादों के चलते अलग रह रहे पति-पत्नी को एक संयुक्त व संगठित परिवार का महत्व बताया। जज की बात सुन अलग रह रहे दंपति फिर से एक साथ रहने का निर्णय लिया। न्यायाधीश पालीवाल ने पांचों लोगों को माला पहनाई। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव संजय कस्तवार ने बताया कि राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण नई दिल्ली व मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के आदेश व जिला सत्र न्यायाधीश अचल कुमार पालीवाल के मार्गदर्शन में जिला न्यायालय व तहसील न्यायालय में नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। यह सुबह 10.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक चला। 21 खंडपीठों में आयोजित लोक अदालत में प्री-लिटिगेशन, बिजली, आपराधिक, मोटर दुर्घटना दावा समेत पक्षकारों के आपसी राजीनामे से प्रकरणों का निराकरण किया गया।

12करोड़ 27 लाख 64 हजार 446 रुपये की अवार्ड राशि हुई पारित
लोक अदालत में प्री-लिटिगेशन के 4140 व न्यायालय के 2680प्रकरणों को रैफर्ड किया गया। प्री-लिटिगेशन के 884 प्रकरणों का निपटारा हुआ। 906लोगों को लाभ मिला। 12 करोड़ 27लाख 64हजार 446रुपये की राशि अवार्ड की गई। इसी तरह से न्यायालय में लंबित 304 प्रकरणों का निपटारा किया गया। 608 लोग लाभांवित हुए। 1 करोड़ 9 लाख 43 हजार 319 रुपये की राशि अवार्ड की गई। कलेक्ट्रेड में भी नेशनल लोक अदालत का आयोजन हुआ। 3746 प्रकरण रखे गए। 1503 प्रकरणों का निपटारा किया गया। इस दौरान जिला अभियोजन अधिकारियों द्वारा भी प्रकरणों के निराकरण के लिए लोगों को मोटीवेट किया।नगर निगम में तीन सैकड़ा ने उठाया लाभ
जलकर, संपत्तिकर के अधिभार में नेशनल लोक अदालत में दी गई छूट
कटनी. नगर निगम में नेशनल लोक अदालत का आयोजन शनिवार को किया गया। निगम कम्युनिटी हॉल में वार्ड क्रमांक 1 से 38 तक के रहवासियों की सुविधा के लिए काउंटर लगाए गए थे जबकि माधवनगर उपकार्यालय में वार्ड क्रमांक 39 से 45 तक के लोगों से कर जमा कराए गए। दोनों ही स्थानों पर जलकर जमा कराने के लिए अलग से व्यवस्था की गई। सुबह 10.30 बजे से शाम 6.30 बजे तक चली लोक अदालत में जल कर व संपत्तिकर के अधिभार में छूट दी गई, जिसका 299लोगों ने लाभ उठाया। दोनों ही स्थानों पर अदालत के दौरान 12 लाख रुपये की राशि जमा कराई गई। राजस्व अधिकारी जागेश्वर पाठक ने बताया कि साल भर में तीसरी बार लोक अदालत का आयोजन हुआ है, जिसका लाभ लोग उठा रहे हैं और अधिभार की छूट लेने वालों की संख्या भी कम होती जा रही है।

Ad Block is Banned